सरकार लागू करें कि पार्षद और सभापति अपने विकास कोष से खर्च करें-विधायक टांक

By: kali charan

|

Published: 14 May 2020, 10:22 AM IST

स्‍पेशल

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
मदनगंज-किशनगढ़.
किशनगढ़ विधायक सुरेश टांक बुधवार को राजस्थान पत्रिका के अजमेर पेज पर फेसबुक लाइव होकर स्थानीय नागरिकों से रू ब रू हुए और लोगों की शंकाओं के जबाव भी दिए। विधायक टांक ने नागरिकों को लॉकडाउन-4.0 में नियमों की पालना की सलाह दी और सोशल डिस्टेंसिंग और मुहं पर अनिवार्य रूप से मास्क पहनने की आदत डालने और इस कोरोना संक्रमण से बचते हुए जीवन जीने का संदेश भी दिया।

सवाल : कोविड-19 संकरण महामारी में नागरिकों की अति आवश्यक जरुरतों के लिए क्या पार्षद मद से खर्च किए जाना चाहिए और इसके लिए आप सरकार स्तर पर क्या प्रयास करेंगे।

जबाव : मेरी खुश नसीबी है कि सभी राजनीति को छोड़ कर एक मंच पर आए और जनता के हितार्थ कार्य में हाथ बंटाना चाहते है। मैं अंतिम क्षौर तक की लड़ाई लडूंगा कि सरकार नियम और कानून लागू करें कि पार्षद या सभापति अपने विकास कोष से खर्च करे, इसके लिए अनुमत करे, यह बात सरकार के समक्ष रखूंगा भी। मुझे उम्मीद है कि इसमें सफल भी होंगे।

सवाल- कोरोना के गांवों में फैलने का खतरा बढ़ा है, कोई ठोस उपाय या कदम उठाए जाएंगे।
जवाब- ग्रामीणों में सतर्कता बढ़ी है। क्षेत्र के ग्रामीण समझदार है। क्वारेंटाइन को लेकर कोई भी बिल्कुल भी डरें या घबराए नहीं। दूसरे राज्यों और जिलों से आने वाले लोगों को स्क्रीनिंग करके क्वारेंटाइन किया जाएगा और यदि जरुरत होगी तो उन्हें घर पर भी क्वारेंटाइन किया जा सकेगा।

सवाल- ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना से संक्रमित ना हो इसके लिए क्या किया जाना चाहिए।
जवाब- गांवों में सरकार और विधायक कोष के माध्यम से 50-50 हजार सेनिटाइजिंग और मास्क वितरण के लिए दिए जा चुके है। मनरेगा पूरी गति से चालू हो चुका है। इसलिए गांवों में परेशानी नहीं आएगी। सभी को सावधानी से रहना होगा।

सवाल- क्या निजी अस्पताल का अधिग्रहण किया जा चुका है।
जवाब-राजकीय यज्ञनारायण चिकित्सालय मेंं भी गायनिक वार्ड चालू कर दिया गया है। साथ ही निजी अस्पताल का अधिग्रहण भी कर लिया गया है और यहां पर जल्द ही गर्भवती को भर्ती किया जा सकेगा और प्रसव सुविधा भी उपलब्ध होगी।

सवाल-लॉकडाउन 4.0 में बाजारों में जागरूकता के लिए क्या सिस्टम तैयार किए जाएंगे।
जवाब-नगर के विभिन्न हिस्सों में टेम्पो घूम रहा है। जब तक जनता सरकार का साथ नहीं देगी तब तक समस्या बनी रहेगी। लोगों में जागरूकता बढ़ाने के प्रयास जारी है और अब जागरुकता के लिए और कदम भी उठाए जाएंगे।

सवाल-मध्यम वर्गीय परिवारों और अन्य लोगों को मदद के लिए क्या कार्य किए जा रहे है।
जवाब-नाई, खाती, लुहार एवं अन्य हुनरमंद लोग, कामगार और अन्य मध्यम वर्गीय लोगों की मदद के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से अनुरोध किया है, जल्द ही कोई राहत मिलने की उम्मीद है।

सवाल- कपड़े-जूते और अन्य व्यापारी कब दुकान खोल सकेंगे।
जवाब-पूरी तरह से दुकाने ंखोलने की छूट जरूर मिलेगी लेकिन कुछ नियमों और शर्तो के साथ सभी को सामूहिक रूप से पालना करनी होगी। तभी पूरी तरह से मार्केट खुलेंगे।

सवाल-मार्बल मंडी में मजदूरों को लॉकडाउन अवधि में वेतन मिलेगा या नहीं या फिर कोई उन्हें आर्थिक रूप से अतिरिक्त मदद दी जाएगी।
जवाब-मार्बल मंडी में एक शिफ्ट में काम चल रहा है। जो मजदूर जाना चाह रहे है केवल वही जा रहे है। किसी मजदूर का नुकसान नहीं होगा। सभी मजदूरों को लॉकडाउन अवधि का वेतन मिलेगा।

सवाल-सभी सरकारी अस्पतालों में सेनेटाइजिंग मशीनों और टर्नल इत्यादि की कमी है। सरकार स्तर पर अब तब अस्पतालों में यह व्यवस्था क्यों नहीं हुई और आगे होगी या नहीं।
जवाब-विधायक कोष स्वास्थ्य सेवाओं के लिए आरक्षित किया गया है। फिर भी इसके लिए इंतजाम किए जाएंगे। जल्द ही विधानसभा क्षेत्र के लिए एक आधुनिक एंबुलेंस का इंतजाम किया जाएगा। सरकारी अस्पतालों में भी टर्नल इत्यादि लगाए जाने चाहिए और वह इसके लिए कोशिश भी करेंगे।

सवाल- कई गरीब और जरुरतमंद परिवारों को अभी भी राशन नहीं मिल पा रहा है, वे केवल राशन की दुकानों पर चक्कर लगा रहे है।
जवाब-पात्र परिवार जो खाद्य सुरक्षा और श्रमिक कार्ड योजना से जुड़े हुए है उन्हें मिल रहा है। जो वंचित है वह ई- मित्र के माध्यम से अपने राशन कार्ड अपडेट करवा ले। राशन मिलना शुरू हो जाएगा। फिर भी कोई तकलीफ हो तो मुझ से सम्पर्क करें।

सवाल-दो माह से मार्बल एरिया में गोदाम बंद है और उनका किराया लग रहा है, क्या किराया माफ होगा।
जवाब-इस संबंध में किशनगढ़ मार्बल एसोसिएशन के साथ बैठकर विचार विमर्श किया जाएगा। गोदाम संचालकों की समस्या की जानकारी है और यह कोशिश रहेगी कि कुछ राहत मिले।

सवाल-फल सब्जी ठेले वालों की जांचें क्यों नहीं की जा रही, जबकि वह डोर टू डोर जा रहे है और कई लोग उनके सम्पर्क में भी आ रहे है।
जवाब-इस संबंध में जिला कलक्टर के समक्ष भी बात रखी है। फल सब्जी ठेले वालों की जांच और सैंपलिंग जरुर होनी चाहिए। बाजार में ठेले वालों की भीड़ खत्म की जाएगी। नगर के सभी 60 वार्डों के हिसाब से ठेले वालों को जगह आंवटित की जाएगी। साथ ही परिचय पत्र की अनिवार्यता रहेगी।

सवाल-हस्तशिल्पी परेशानी में है, परिवारों के समक्ष भरण पोषण की समस्या बन गई है। ऐसे परिवारों के लिए क्या कदम रहेगे।
जवाब-हस्तशिल्पियों की बात मुख्यमंत्री अशोक गहलोत तक पहुंचा दी गई है। उनकी समस्या का भी समाधान होगा। आप सभी भाई मेरा विश्वास रखे, मैं पूरी कोशिश करूंगा की आप लोगों को सरकार की ओर से संबल मिले।

सवाल-दूसरे राज्यों और जिलों से बड़ी संख्या में लोग आने लगे है। उनके क्वारेंटाइन या ट्रेकिंग और मोनिट्रिंग की क्या व्यवस्था रहेगी।
जवाब-बाहर से आने वाले हर व्यक्ति की चैक पोस्टों पर स्क्रीनिंग होगी, उन्हें निश्चित अवधि के लिए क्वारेंटाइन किया जाएगा। यदि कोई व्यक्ति चाहता है कि वह अपने घर पर बेहतर तरीके से क्वारेंटाइन रह सकता है तो शर्तों के साथ उसे अनुमति भी दी जाएगी।

सवाल- गर्मी ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है, पेयजल समस्या नहीं हो इसके लिए क्या प्रयास रहेंगे।
जवाब-पानी की समस्या समाधान के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है। गर्मी को देखते हुए इस संबंध में राज्य सरकार को भी अवगत कराया गया है। जिला कलक्टर के भी सम्पर्क में है। किसी प्रकार की चिंता ना करे, पेयजल समस्या नहीं होगी।

सवाल-मार्बल एरिया में सभी औद्योगिक गतिविधियां पूरी तरह से कब चालू होगी।
जवाब-मार्बल एरिया में गोदाम, एजकटिंग, पोलिश आदि सभी व्यवसाय शुरू होंगे लेकिन अब पहले की तरह नहीं बल्कि सोशल डिस्टेंसिंग के अनुरूप और सरकार की एडवायजरी के अनुरूप काम करना होगा। सभी को सेनेटाइजिंग इत्यादि की व्यवस्था भी करनी होगी।

सवाल-डाटा की कमी और एनरॉयड मोबाइल फोन नहीं होने की वजह से ऑनलाइन पढ़ाई में परेशानी आ रही है। मोबाइल की दुकानें कब खुलेगी।
जवाब-इस समस्या की जानकारी है। जल्द ही मोबाइल की दुकानें खुल जाएगी। इस विषय पर जल्द ही सरकार फैसला लेने वाली है।

अब आएगा लॉकडाउन 4.0
विधायक सुरेश टांक ने सभी कोरोना वारियर्स का धन्यवाद देते हुए कहा कि हमने लॉकडाउन 1.0, 2.0 से 3.0 तक सफलता पूर्वक निकाला है। अब लॉकडाउन 4.0 को भी सावधानी से निकालना है। अभी बच्चों और महिलाओं को बेवजह बाजार नहीं जाना चाहिए। इस समय महिलाओं ने बहुत बड़ी भूमिका निभाई है। परिवारों को बचाने के लिए यह भूमिका आगे भी जारी रहनी चाहिए। विधायक टांक ने बी इंडियन बाय इंडियन का संदेश देते हुए कहा कि लॉकडाउन 4.0 में भी सरकार के दिशा निर्देशों का अक्षरक्ष पालन करें। घर पर रहकर सुरक्षित रहकर हम सभी मिलकर कोरोना को हराएंगे। अपने पुरुषार्थ, इम्युनिटी, खान-पान और रहन-सहन से हम यह लड़ाई जरुर जीत लेंगे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।