क्रेडिट फंडिंग पर कैबिनेट नोट से 2,865 उद्यमियों को मिलेगा लाभ, 10,00 लाइन में

Dhirendra Mishra

Publish: Sep, 11 2017 12:29:00 (IST)

Special

देशभर में नवाचार को बढ़ावा देने के लिए केन्द्र सरकार कैबिनेट नोट लाने की तैयारी में जुटी।

पंजीकृत स्टार्टअप को लाभ 

केन्द्र सरकार ने इस बाबत नए सिरे से प्रभावी कदम उठाने के संकेत मिलने लगे हैं। वित्तीय वर्ष में कराधन व अन्य मामलों में रियायत देने के बाद अब वह के्रडिट फंडिंग को लेकर कैबिनेट नोट लाने की तैयारी में है। इसका लाभ डीआईपीपी से पंजीकृत स्टार्टअप को मिलेगा तत्काल के्रडिट ऋण दिलाने की योजना वित्तीय वर्ष में कराधन व अन्य मामलों में रियायत देने के बाद अब केंद्र सरकार के्रडिट फंडिंग को लेकर कैबिनेट नोट लाने की तैयारी में है। इससे पहले औद्योगिक नीति और संवद्र्धन विभाग (डीआईपीपी) ने स्टार्टअप के्रेडिट गांरटी की रूपरेखा को अंतिम रूप देने में जुटी है। फाइनल ड्रॉफ्ट तैयार होने के बाद इसे कैबिनेट के सामने रखा जाएगा। इसका मकसद उद्यमियों को क्रेडिट के आधार पर तत्काल ऋण मुहैया कराना है। ऐसा तभी संभव होगा जब सरकार ऋण के्रडिट की गांरटी दे।

2,000 करोड़ का फंड जारी
जनवरी 2016 में स्टार्टअप इंडिया प्लान के तहत इस फंड की घोषणा केंद्र सरकार ने की थी। केंद्र क्रेडिट गारंटी जैसा कदम उद्यमियों के वित्तीय संकट को दूर करने और उद्यमिता को देशभर में प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से उठा रही है। फिलहाल डीआईपीपी को 2,000 करोड़ रुपए का फंड जारी किया गया है, जो स्टार्टअप के लिए वित्तीय सहायता के लिहाज से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। फंड मिलने से युवा उद्यमियों को कारोबारी विस्तार देने में भी मदद मिलेगी। 

60 को मिली कराधान से छूट
डीआईपीपी के अधिकारियों का कहना है इस स्टार्टअप के्रडिट फंड का लाभ मान्यता प्राप्त उद्यमी उठा सकते हैं। अभी तक डीआईपीपी ने देश में 2,865 स्टार्टअप उद्यमियों को मान्यता दी है। यानी कुल 10,000 उद्यमियों में से 2,865 उद्यमी इस फंड का उपयोग कर पाएंगे। शेष उद्यमियों को इसका लाभ तभी मिलेगा, जब वह अपनी ईकाई डीआईपीपी से पंपंजीकृत करा लें। इसके तहत अभी तक 60 स्टार्टअप को कराधान से छूट मिली है और 100 के करीब स्टार्टअप आवेदन डीआईपीपी के पास विचाराधीन हैं।

Web Title "Centre government may plan to cabinet note 2865 get benifitted"