दुकान व घर की बत्ती गुल, कनेक्शन काटने निकला बिजली अमला

By: Amit Pandey

Updated On: 25 Aug 2019, 03:12:45 PM IST

  • हजार से अधिक बकाया उपभोक्ता राडार पर.....

सिंगरौली. शहरी क्षेत्र में बिजली का उपयोग करने के बाद बिल नहीं चुकाना आज डेढ़ सौ से अधिक उपभोक्ताओं को महंगा पड़ गया। बिजली कंपनी के अमले ने चार टीम में बैढन, नवानगर व नवजीवन विहार के बाजार सहित कुछ आवासीय क्षेत्र में बिल जमा नहीं कराने वाले उपभोक्ताओं का कनेक्शन काटने की सख्त कार्रवाई की। इससे ऐसा करने वाले सभी उपभोक्ताओं में हडक़ंप मचा है। इस कार्रवाई के साथ ही एक दिन में ही छह लाख से अधिक बकाया राशि बिजली कंपनी के खाते में आ गई। बिजली कंपनी अधिकारियों के अनुसार बिल जमा नहीं कराने वाले उपभोक्ताओं का कनेक्शन काटने का यह अभियान इस माह के अंत तक चलेगा।

मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र बिजली कंपनी की चार टीमों ने शुक्रवार सुबह से शहरी क्षेत्र के सभी ४५ वार्डों मेें बिल जमा नहीं करने वाले उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटने का अभियान शुरु किया है। इसके तहत बैढन व मोरवा जोन में दो-दो टीमों को लगाया गया है। बताया गया कि इस दौरान शाम पांच बजे तक लगभग डेढ़ सौ उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे गए। इनमें से अधिकतर व्यावसायिक श्रेणी वाले उपभोक्ता हैं जबकि कुछ संख्या घरेलू श्रेणी वालों की भी है। उल्लेखनीय है कि बिजली कंपनी को शहरी क्षेत्र के उपभोक्ताओं से बिल की लगभग पांच करोड़ रुपए बकाया राशि जुटानी है। इसके लिए पहले समझाईश की प्रक्रिया अपनाई गई। इस दौरान बकाया वाले उपभोक्ताओं को समझाईश दी गई मगर इससे कोई विशेष लाभ नहीं हुआ।

बताया गया कि इसके चलते ही मुख्यालय की ओर से बकाया में से अधिकतम राशि की वसूली के लिए अब कनेक्शन काटने जैसी सख्ती का रास्ता अपनाया गया है। बिजली कंपनी शहर संभाग के कार्यपालन यंत्री एएस बघेल ने बताया कि शुक्रवार शाम पांच बजे तक चार टीमों ने एक दिन में ही डेढ़ सौ कनेक्शन काटने की कार्रवाई की। इन उपभोक्ताओं का बिजली कनेक्शन पोल से विच्छेद कर दिया गया। इसके साथ ही ऐसे सभी उपभोक्ताओं की सूची भी संबंधित जोन के शिकायत केन्द्र में दी गई है तथा वहां पदस्थ कार्मिकोंं को बिल की राशि जमा होने तक कनेक्शन नहीं जोडऩे का निर्देश भी दिया गया है। कार्यपालन यंत्री बघेल ने बताया कि मौके पर कनेक्शन काटे जाने से पहले व कनेक्शन काटने के बाद पुन: जोडऩे के लिए लगभग ३२ उपभोक्ताओं ने बिजली कंपनी को बकाया या पुन कनेक्शन के लिए शुल्क जमा करवाया है। इससे एक ही दिन में छह लाख रुपए से अधिक राशि की वसूली की गई।

बताया गया कि फिलहाल इस अभियान में पांच हजार या इससे अधिक राशि बकाया वाले व्यावसायिक व औद्योगिक श्रेणी वाले उपभोक्ताओं तथा दस हजार रुपए से अधिक बकाया वाले उपभोक्ताओं को उनका कनेक्शन काटने के लिए चिन्हित किया गया है। बिजली अधिकारियायें की ओर से ऐसे सभी उपभोक्ताओं के खिलाफ कनेक्शन काटे जाने की कड़ी कार्रवाई चालू अगस्त माह के अंत तक जारी रखने का दावा किया गया है।

कनेक्शन जुडऩे में लगेगा समय
कनेक्शन काटे जाने की कार्रवाई के घेरे में आने वाले उपभोक्ताओं को बकाया बिल जमा करने के बाद भी सुविधा के लिए दो-चार दिन इंतजार करना होगा। इसका कारण काटे गए कनेक्शन को जोडऩे या नए कनेक्शन की प्रक्रिया में समय लगना बताया गया है। बताया गया कि बिजली कंपनी में कार्मिकों की कमी के कारण काटे गए कनेक्शन को नंबर की वरीयता से जोड़ा जाता है। इसलिए नंबर आने पर ही संबंधित उपभोक्ता का कनेक्शन पुन: जोड़ा जाएगा। इस प्रक्रिया में दो से चार दिन का समय लगता है। इसलिए ही कनेक्शन कटने के बाद संबंधित उपभोक्ताओं को बिजली के लिए इंतजार करना होगा। इसलिए कार्यपालन यंत्री एएस बघेल ने उपभोक्ताओं को बकाया बिल जल्द जमा करने की सलाह दी है ताकि उनको परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।

Updated On:
25 Aug 2019, 03:12:44 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।