शिक्षकों के सामने आ रही ये समस्या

By: Vinod Singh Chouhan

Published On:
Jul, 11 2019 07:11 PM IST

  • एक ओर सरकार विद्यालयों में नामांकन बढ़ाने पर जोर दे रही है वहीं टोडा, दरीबा, झरिण्डा, जीताला आदि गांवों के विद्यालयों में महत्वपूर्ण विषयों के पद रिक्त हैं। इससे शिक्षकों को नामांकन बढ़ाने में जोर आ रहा है।

नीमकाथाना.

एक ओर सरकार विद्यालयों में नामांकन बढ़ाने पर जोर दे रही है वहीं टोडा, दरीबा, झरिण्डा, जीताला आदि गांवों के विद्यालयों में महत्वपूर्ण विषयों के पद रिक्त हैं। इससे शिक्षकों को नामांकन बढ़ाने में जोर आ रहा है। शिक्षकों के ये पद लंबे समय से रिक्त हैं। अध्यापकों की कमी के चलते पढ़ाई बाधित हो रही है। इन विद्यालयों में भौतिक विज्ञान, गणित व अंग्रेजी जैसे विषयों के पद रिक्त हैं। ऐसे में अभिभावक भी बच्चों को स्कूलों में प्रवेश दिलाने से झिझक रहे हैं। छह विद्यालयों में लगभग ४० पद रिक्त हैं। अध्यापकों के रिक्त पदों के कारण नामांकन पर प्रभाव पड़ रहा है। सरकारी विद्यालयों में रिक्त पदों पर नजर डालें तो राउमावि. जीताला, राउमावि. झरिण्डा व राउमावि. दरीबा में गणित का शिक्षक नहीं है। मगोदा राउमावि. में भौतिक विज्ञान विषय का पद रिक्त है।
जनता में आक्रोश
थोई. राबामावि रामपुरा में गत तीन वर्षों से गणित विषय शिक्षक का नहीं होने से नामांकन घट रहा है। प्रधानाध्यापक गिरधारीलाल मीणा ने बताया कि उच्च अधिकारियों को कई बार अवगत करवाया गया। अभिभावक प्रतिदिन विद्यालय में आकर गणित विषय का अध्यापक नहीं होने पर टी.सी. की मांग कर रहे हैं। विद्यार्थियों के भविष्य को ध्यान में रखते हुये ग्रामिणों ने मांग की है कि गणित विषय का पद शीघ्र नहीं भरा जायेगा तो विद्यार्थियों की टी.सी. जारी कर दी जावें।

सरकारी विद्यालयों में कठिन विषयों के पद खाली चल रहे है। जिनसे विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। सरकार को शीघ्र ही रिक्त पदों को भरना चाहिए।
मंगल सिंह तंवर, ग्रामीण

भौतिक विज्ञान, गणित व अंग्रेजी जैसे विषयों के पद खाली होने से परीक्षा परिणाम पर प्रभाव पड़ रहा है। रिक्त पड़े पदों के कारण नामांकन पर प्रभाव पड़ रहा है। खाली पदों को भर दिया जायें तो नामांकन बढ़ेगा।
रोहिताश शर्मा, ग्रामीण

गणित और विज्ञान की एक अध्यापिका को भेजा प्रतिनियुक्ति पर, ग्रामीणों का प्रदर्शन
नीमकाथाना. गणेश्वर के समीप ढाणी नई कोठी में राजकीय उत्कृष्ट उच्च प्राथमिक विद्यालय की अध्यापिका को प्रतिनियुक्ति पर लगाने का विरोध किया। जानकारी के अनुसार अध्यापिका मीना कुमारी को सीबीईओ के आदेश पर प्रतिनियुक्ति पर सालावाली किया है। ग्रामीणों को जब इसकी भनक लगी तो उन्होंने प्रदर्शन किया। वहीं स्कूल के गेट के बाहर बीईईओ को रोक दिया। प्रदर्शन कर रहे ग्रामीणों ने नारेबाजी की। बीईईओ के समझाइश पर ग्रामीणों ने बैठक ली। बैठक में ग्रामीण अपनी बात पर अड़े रहे। ग्रामीणों ने कहा कि जब तक प्रतिनियुक्ति के आदेश को रद्द नहीं किया जाएगा तब तक विरोध प्रदर्शन करेंगे। ग्रामीणों ने गुरुवार तक का समय दिया है कि शाला में विज्ञान व गणित की एक ही अध्यापिका है। इसको भी प्रतिनियुक्ति पर भेज दिया जाता है तो बच्चों की पढ़ाई चौपट हो जाएगी। उच्च अधिकारियों ने हमारी मांग नहीं मानी तो विद्यालय के ताला जड़ दिया जाएगा। पीईईओ ने अपने उच्च अधिकारियों को अवगत करवाने का आश्वासन दिया। विरोध प्रदर्शन में पूर्व सरपंच घासीलाल अग्रवाल, उपसरपंच रामनिवास सैनी, श्योपाल सैनी, सोहन लाल सैनी, रामजीलाल सैनी, सुल्तान सैनी, सीताराम सैनी, भींमाराम, झाबरमल सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

Published On:
Jul, 11 2019 07:11 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।