एमसीआई के निरीक्षण की तैयारियों में जुटा एसके अस्पताल

By: Puran Singh Shekhawat

Updated On:
25 Aug 2019, 11:44:30 AM IST

  • अगले महीने संभावित है दौरा
    सरकार का दावा: अगले सत्र से शुरू होगा सीकर मेडिकल कॉलेज

सीकर. सांवली में बन रहे तीन जिलों के बहुप्रतीक्षित सीकर मेडिकल कॉलेज की राह अब आसान नजर आने लगी है। मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई ) की ओर से किए गए निरीक्षण के अटैच एसके अस्पताल में निकाली गई अधिकांश खामियों को पूरा किया जा रहा है। मेडिकल कॉउंसिल की टीम के निरीक्षण के लिए कॉलेज प्रबंधन ने फीस भी जमा करवा दी है। संभवत मेडिकल कॉलेज के अटैच अस्पताल का सितम्बर माह में निरीक्षण किया जाएगा। मेडिकल कॉलेज के अटैच अस्पताल के दो परिसर एसके अस्पताल और जनाना अस्पताल के कारण लगाए गए आब्जेक्शन को दूर करने के लिए प्रदेश स्तर पर केन्द्र सरकार से वार्ता की जा रही है। एमसीआई की ओर से हरी झंडी नहीं दिखाने पर एसके अस्पताल परिसर में गायनिक और पीडियाट्रिक वार्ड शुरू करने के लिए जीएनएमटीसी भवन को काम में लिया जाएगा। कॉलेज के अधिकारियों का दावा है कि इस बार तैयारी ऐसी है कि मेडिकल काउंसिल कॉलेज का पहला बैच शुरू करने के लिए स्वीकृति दे देगी।

यह रही थी खामियां
एमसीआई की टीम ने जिला अस्पताल का पिछले वर्ष निरीक्षण किया था। दो दिन के निरीक्षण में टीम ने एमसीआई नाम्र्स के अनुसार 27 खामियां चिन्हित की थी। जिनमें सबसे बड़ी खामी अस्पताल में बैड क्षमता कम होना, एक आईसीयू कम, अटैच संस्थानों के तीन जगह परिसर होना, डीन और अस्पताल अधीक्षक की कम योग्यता, वार्डों में डेमोंस्ट्रेशन रूम, ड्यूटी रूम नहीं होना, ऑपरेशन थियेटर कम होना माना था। टीम ने मेडिकल कॉलेज शुरू करने के लिए फेक्लटी की 80, रेजिडेंट्स की 16 प्रतिशत, पैरामेडिक स्टॉफ की 50 प्रतिशत कमी, लेक्चर थियेटर व लाइब्रेरी नहीं होना, अस्पताल में 62 बैड कम होना, मोबाइल एक्सरे मशीन, सीसीएसडी और अस्पताल की वेबसाइट नही होना, एनाटॉमी, फिजीयोलॉजी, बॉयोकेमेस्ट्री विभाग नहीं होना आदि कमियां रही।

इन कमियो को किया पूरा

फैक्लटी की कमी प्रदेश स्तर पर होगी। इसके लिए सितम्बर में साक्षात्कार होंगे। एसके अस्पताल के नौ चिकित्सक फैकल्टी के एमसीआई नाम्र्स पूरे करते हैं। रेजीडेंट व नर्सिंग कर्मी, पैरामेडिकल स्टॉफ, मेडिकल कॉलेज भवन में चार लेक्चर बन कर तैयार है। जीएनएमटीसी सेंटर में भी एक लेक्चर रूम है। लाइब्रेरी को बनाने के लिए अस्पताल के चिकित्सकों ने 500 पुस्तकें दी है। आठ सौ पुस्तके खरीदने की स्वीकृति जारी हो गई है। ऑडियोमेट्री का कमरा तैयार हो गया है। वार्ड में डेमोंस्टे्रशन, पेंट्री के लिए रिनोवेशन का काम हो रहा है। अस्पताल के 236 बैड पर नम्बरिंग कर दी गई है। मोबाइल एक्सरे के लिए ट्रोमा यूनिट में खोली जाएगी। इंटरकॉम की सुविधा शुरू हो गई है। एनाटॉमी, फिजीयोलॉजी, बॉयोकेमेस्ट्री विभाग मेडिकल कॉलेज में बन रहे हैं। जिनका निर्माण पूरा कर अगले माह सुपुर्द कर दिया जाएगा। मेडिकल कॉलेज के डीन और अधीक्षक एमसीआई की पात्रता पूरी कर रहे हैं।

इनका कहना है
जिला अस्पताल के निरीक्षण में मिली कमियों को एमसीआई के निरीक्षण से पहले पूरा कर लिया जाएगा। फैकल्टी के लिए सितम्बर माह में साक्षात्कार होंगे। इसके अलावा अटैच चिकित्सा संस्थानों के तीन परिसर होने और उपकरण संबंधी खरीद प्रक्रिया राज्य स्तर से होगी। जिन्हें भी पूरा कर लिया जाएगा।

डा. केके वर्मा, प्रिंसीपल मेडिकल कॉलेज सीकर

Updated On:
25 Aug 2019, 11:44:30 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।