12 सेकेंड में 15 लाख की लूट प्रकरण, गलियों में गुम हुए लुटेरे, कर्मचारी पर ऐसे आजमाया पहलवानी दाव

By: Vinod Singh Chouhan

Published On:
Jul, 11 2019 11:54 AM IST

  • Looted 15 Lakh in Sikar : शहर की बजाज रोड पर सूर्य मंदिर के पास गली में लाखों से भरा बैग लूटकर ले जाने के माामले में पुलिस की जांच फुटेज से लुटेरों की पहचान में उलझ गई है।

सीकर.

looted 15 lakh in Sikar : शहर की बजाज रोड पर सूर्य मंदिर के पास गली में लाखों से भरा बैग लूटकर ले जाने के माामले में पुलिस की जांच फुटेज से लुटेरों की पहचान में उलझ गई है। तीन दिन बाद भी लुटेरों की पहचान नहीं हो पाई है। साथ ही लुटेरे आगे कहा पर गए। इसका भी अभी तक खुलासा नहीं हुआ है। वारदात के बाद लुटेरे ईदगाह तक गए। इसके बाद तंग गलियों से निकल कर ओझल हो गए। शहर के बाहर किस रास्ते से गए इसका भी अभी तक पता नहीं चल पाया है। ऐसे में पुलिस का मानना है कि वारदात को योजनाबद्ध ( Plan Before loot ) तरीके से अंजाम दिया गया है। योजना स्थानीय व्यक्ति के बिना नहीं बनाई जा सकती। अब तक की जांच के बाद माना जा रहा है कि लुटेरों में पैसा छीनने वाला व्यक्ति पेशेवर अपराधी है।


गलियों की पहचान, पहलवानी का दाव

वारदात के तरीके को देखते हुए साफ जाहिर है कि लुटेरों में बाइक चला रहे युवक को यहां की गलियों की गहराई से जानकारी थी। वारदात के बाद ईदगाह रोड के बाद वे जिस तंग गलियों से आगे निकले। उनका रास्ता सामान्य व्यक्ति भी नहीं जानता है। इसके अलावा वारदात के दौरान कर्मचारी को जिस तरह से उठाकर पटका गया। इस तरह का दाव अमूमन अखाड़ों में पहलवानी करने वाले युवक आजमाते हैं।

 

Read More :

Watch : राजस्थान में यहां 12 सेकेंड में 15 लाख की लूट, फिल्मी स्टाइल में घटी पूरी वारदात CCTV में कैद


लूट की रकम हो सकती है ज्यादा ( crime in Sikar )
पुलिस में दर्ज मामले में लूट में गई रकम 15 लाख रुपए बताई गई है। लेकिन अब तक की पूछताछ के बाद माना जा रहा है कि लूट की रकम इससे ज्यादा थी। कानूनी पचड़े से बचने के लिए कंपनी मालिक ने यह रकम कम लिखवाई है। पुलिस इस पर भी गहराई से जांच कर रही है।


लुटेरों को भी पैसा लेकर आने की जानकारी
लुटेरों को भवानी इंटरप्राइजेंस पर काम करने वाले रविशंकर और गजानंद के पैसे लेकर आने की पूरी जानकारी थी। फुटेज को देखा जाए तो लुटेरे तय समय पर पहुंचे। एक मिनट की चहलकदमी में ही दूसरी बाइक आने पर महज 12 सैकंड में वारदात को अंजाम देकर भाग गए। पुलिस अब लुटेरों को इसकी जानकारी देने वाले की पहचान के लिए भी कदम बढ़ा दिए हैं।


लुटेरों का अभी तक सुराग नहीं लगा है। पुलिस हर बिंदू पर गहराई से जांच कर रही है। पूछताछ के साथ हाइटेक तरीके से भी जांच की जा रही है। वारदात के तरीके को देखते हुए लुटेरे बाहरी हो सकते हैं। -देवेन्द्र शर्मा, अपर पुलिस अधीक्षक, सीकर

Published On:
Jul, 11 2019 11:54 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।