सीएचसी में स्टाफ की कमी पर प्रदर्शन

By: Devendra Sharma

Updated On: 24 Aug 2019, 05:43:18 PM IST

  • कस्बे की सीएचसी में लगातार दंत चिकित्सक की अनुपस्थिति व नर्सिंग स्टाफ की कमी व बदहाल चिकित्सा व्यवस्था को लेकर ग्रामीणों ने शुक्रवार सुबह सीएचसी के मुख्य गेट पर धरना प्रदर्शन किया।

खाचरियावास. कस्बे की सीएचसी में लगातार दंत चिकित्सक की अनुपस्थिति व नर्सिंग स्टाफ की कमी व बदहाल चिकित्सा व्यवस्था को लेकर ग्रामीणों ने शुक्रवार सुबह सीएचसी के मुख्य गेट पर धरना प्रदर्शन किया।
मेडिकल एसोसिएशन ने भी अपने प्रतिष्ठान बंद कर धरने को समर्थन दिया। ग्रामीणों ने बताया कि पिछले एक महीने से दंत चिकित्सा कक्ष के ताला लटका पड़ा है भामाशाह सोमानी द्वारा साढ़े चार लाख की लागत से दी गई मशीन धूल फांक रही है। रोजाना मरीज परेशान हो रहे है दांतों के इलाज के लिए जयपुर सीकर जाना पड़ रहा है। नए दंत चिकित्सक लंबी छुट्टी पर हैं। सरकार के आदेश के बावजूद भी डेपुटेशन पर लगे नर्सिंग कर्मियों को वापस सीएचसी में लगाने की ग्रामीणों ने मांग की।
ब्लॉक सीएचएचओ भरत सिंह मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों से बातचीत की। ग्रामीणों ने दस सूत्रीय मांग पत्र ब्लॉक सीएचएचओ को सौंप कर दो दिन में मांगे नहीं मानने पर मंगलवार को सीएचसी के मुख्य गेट पर तालाबंदी कर अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन की चेतावनी भी दी है। प्रदर्शन के दौरान पूर्व सरपंच नरेंद्र सिंह शेखावत, मंगलचंद बुरडक, दिग्विजय सिंह शेखावत, छितरमल लोरा, बाबूलाल हल्दुनिया, नारायण लाल भादू, आदि थे।
धरने के दौरान ब्लॉक सीएमएचओ ने सीएचसी के उपस्थिति रजिस्टर देखा तो पाया कि दंत चिकित्सक लगातार अनपस्थित हैं। उन्होंने पूछा कि लगातार छुट्टियां किसने मंजूर की तो स्टाफ ने कहा कि चिकित्सा प्रभारी ने। इस पर ब्लॉक सीएमएचओ ने नाराजगी जताते हुए कहा कि व्यवस्थाओं को देखकर छुट्टी स्वीकृत करी चाहिए। वहीं विभाग को अवगत भी कराना जरूरी है कि सीएचसी में वर्तमान में 6 नर्सिंगकर्मी कार्यरत हैं। शेष 3 में से एक फीमेल नर्सिंगकर्मी सीसीएल पर एक राज्य सरकार के आदेशानुसार धोलासरी व एक को डांसरोली पीएचसी पर वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर लगा रखा है।

Updated On:
24 Aug 2019, 05:43:17 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।