एक महीने के बाद बहन की थी शादी, बस में जाने से पहले ही पुलिस ने भाई को बीच रास्ते ही दबोचा

By: Vinod Chauhan

|

Published: 24 Aug 2019, 02:57 PM IST

Sikar, Sikar, Rajasthan, India

सीकर.

गैंगस्टर आनंदपाल ( Gangster Anandpal Singh ) का विश्वासपात्र मनीष जाट ( Criminal Manish Jaat ) काफी शातिर है। वह नीमकाथाना में पुलिस से बचने के लिए चारों ओर से घिरी 30 किलोमीटर की पहाडिय़ों में जाकर छुप जाता था। पुलिस दबिश देने के लिए जाती तो वह छिप कर पथराव करता था। पत्थरों से पुलिस पर हमला कर फरार हो जाता था। पुलिस ने सूचना मिलने पर उसे कई बार पकडऩे का प्रयास किया। हर पुलिस को वापस लौटना पड़ता था। पुलिस ने मनीष जाट को 5 दिन के रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है। मनीष 2016 में ही फरार हो गया था। उसके बाद 100 से अधिक वारदातों को अंजाम दिया था।


पुलिस की टीमें चोरी की वारदातों के बारे में पूछताछ कर रही है। एडीजी क्राइम की ओर से मनीष को पकडऩे के लिए 20 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। वह गाडी चलाने में माहिर था। पुलिस की नाकाबंदी में टायर पंचर होने पर भी गाड़ी को निकाल कर ले जाता था। इसी कारण से आनंदपाल ने उसे अपने गिरोह में शामिल किया था। पुलिस ने एक दिन पहले ही सीकर में रामूका बास से मनीष जाट उर्फ मनीष बच्चियां को गिरफ्तार किया था। पुलिस उससे चोरी के वाहनों व भैंस चोरी की वारदातों के बारे में पूछताछ कर रही है।

Read More :

पुलिस पर हमला करने वाला आनंदपाल गैंग का इनामी बदमाश गिरफ्तार, ट्रकों में काटता था फरारी

एक महीने बाद बहन की शादी
मनीष से पूछताछ में पता लगा कि एक महीने के बाद उसकी बहन की शादी है। इसीलिए वह तैयारियों को लेकर सीकर आया था। पुलिस टीम ने सूचना मिलने पर चारों ओर से घेराव कर उसे दबोच लिया। वह बस में बैठकर भागने की फिराक में था। मोबाइल नहीं रखने के कारण पुलिस को उसे पकडऩे में काफी परेशानी हो रही थी। पुलिस उसके फरार साथियों सीताराम व शक्ति सिंह रानोली के बारे में पूछताछ कर रही है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।