जेल में बंद इस गैंगस्टर को मारने की फिराक में था बंदूक गैंग, फेसबुक पर चल रही थी प्लानिंग

By: Vinod Singh Chouhan

Updated On: Jun, 12 2019 06:36 PM IST

  • रामगढ़ शेखावाटी में बैंक लूटने के बाद वसीम गैंग का अगला कदम जेल में बंद मुन्ना तलवार को मारने का था। इसके लिए गैंग के सदस्यों ने योजना भी तैयार कर ली थी।

सीकर/फतेहपुर.

रामगढ़ शेखावाटी में बैंक लूटने ( Bank Loot )के बाद वसीम गैंग ( Wasim Gang ) का अगला कदम जेल में बंद मुन्ना तलवार ( Munna Talwar ) को मारने का था। इसके लिए गैंग के सदस्यों ने योजना भी तैयार कर ली थी। लेकिन, इससे पहले पुलिस ने साजिशकर्ता और गैंग के सरगना सिराज अहमद सहित इनके सभी साथियों को दबोच लिया। गिरफ्तारी के बाद मंगलवार को सभी आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। यहां कोर्ट ने सभी को दो दिन के पुलिस रिमांड पर सौंपा है। इनसे पुलिस योजना के बारे में पूछताछ कर रही है। रामगढ़ शेखावाटी के थानाधिकारी हिम्मत सिंह ने बताया कि आरोपी बैंक डकैती के बाद इनसे रंजिश रखने वाले मुन्ना तलवार को जेल में ही मारने की योजना बना रहे थे। क्योंकि दोनों के बीच आपसी गैंगवार चल रही थी और कई बार एक दूसरे के गुर्गों पर फायरिंग भी कर चुके हैं। रामगढ़ शेखावाटी में छीपने और इसके बाद बैंक डकैती करने से पहले ही यहां के मुखबिरों ने पुलिस तक सूचना पहुंचा दी और बदमाशों को हथियारों के साथ धर लिया गया। शुरूआती पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि आरोपियों की रामगढ़ शेखावाटी में कई जगह रिश्तेदारियां हैं। ऐसे में कई स्थानीय लोग भी इनसे जुड़े हुए हैं। जिनके बारे में पुलिस जानकारी हासिल कर रही है। आरोपियों की कुछ फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। यह फोटो तीन जून को कई फेसबुक आइडी से डाली हुई थी। सोशल मीडिया पर एक होटल में रुके हुए की फोटो भी वायरल हो रही है। इनमें पकड़ में आए आरोपियों की फोटो और कुछ रामगढ़ के लडक़ों की फोटो शामिल है। इस फोटो के साथ यह भी लिखा हुआ है कि भूचाल सीकर से रवाना। इस आधार पर माना जा रहा है कि वसीम गैंग के साथ रामगढ़ के युवाओं से लिंक हो सकता है। जिनको पुलिस अपने दायरे में ले रही है।


सटोरियों से जुड़े तार
गिरफ्तार हुए आरोपियों में ज्यादातर सट्टे के कारोबार से जुड़े हुए हैं। इधर, रामगढ़ शेखावाटी व नजदीकी तहसील फतेहपुर भी सट्टे का गढ़ माना जाता है। अंदेशा है कि इन लोगों के तार यहां के स्थानीय सटोरियों से जुड़े हो सकते हैं। पुलिस इनके संपर्क में आने वाले लोगों से पूछताछ कर कड़ी से कड़ी जोडऩे का प्रयास में जुटी है।


हथियारों पर फोकस
जांच अधिकारी व फतेहपुर कोतवाल उदय सिंह ने बताया कि रिमांड पर लेकर दो दिन तक आरोपियों से कड़ी पूछताछ की जाएगी। आरोपियों के पास दो लोडेट पिस्टल, 11 जिंदा कारतूस बरामद होने पर पुलिस हथियारों के बारे में जानकारी जुटा रही है कि इन्होंने यह हथियार कहां से और किससे खरीदे हैं। इसके अलावा इस योजना में और कौन-कौन शामिल है।


यह था मामला
जयपुर में फायरिंग की वारदात को अंजाम देने के बाद रामगढ़ शेखावाटी में बैंक डकैती के लिए पहुंचे बंदूक गैंग के सरगना सिराज अहमद व उसके नौ साथियों को सोमवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। आरोपी पास की सूनी हवेली के तहखाने में जाकर छुप गए थे।

Published On:
Jun, 12 2019 02:35 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।