बारिश के बाद बढ़ा अस्पतालों का बढ़ा ओपीडी

By: Puran Singh Shekhawat

Updated On:
11 Jul 2019, 09:34:14 PM IST

  • गले के संक्रमण के मरीजों की संख्या ज्यादा
    दो दिन में बढ़े 30 फीसदी मरीज

सीकर. प्रदेश में सक्रिय हुए मानसून के बाद लोग एक बार फिर मौसमी बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं। नमी और उमस के बाद अस्पतालों का आउटडोर 30 प्रतिशत तक पहुंच गया। चिकित्सकों के अनुसार बदलते मौसम में सबसे ज्यादा लोग गले की समस्या से परेशानी है। गले में खराश, कफ जमना, खांसी, गले में दर्द जैसी समस्या के चलते लोग अस्पताल के में जांच के लिए आ रहे है। सामान्य दिनों की तुलना में इन दिनों रोजाना 70 से 80 मरीज इएनटी में इलाज के लिए आ रहे है। इनमे से 30 प्रतिशत मरीज कान ओर गले के संक्रमण से ग्रसित है।


फेफड़ों में फैल रहा है इन्फेक्शन
डॉक्टरों के अनुसार मौसम तापमान में हो रहे उतार चढ़ाव के कारण लोगों में फेफड़े का इन्फेक्शन बढ़ रहा है। इस इंफेक्शन से खांसी के साथ कफ, लगातार छींक आना व गले में लगातार कफ जैसी परेशानी हो रही है। यह ज्यादा समस्या इनडोर व आउट डोर इंफेक्शन वाले मरीजों में सामने आ रही है।

इनका कहना है
कभी नमी बढऩे और घटने के कारण लोगों को ईएनटी संबंधी परेशानी बढ़ रही है। लोगों में गले व फेफड़ों में इंफेक्शन की शिकायत भी बढ़ रही है। इस कारण अस्पताल में भी 30 प्रतिशत तक गले के मरीजों की संख्या बढ़ गई है।
डॉ. एसके शर्मा, प्रमुख विशेषज्ञ, ईएनटी एसके अस्पताल

Updated On:
11 Jul 2019, 09:34:14 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।