रक्षाबंधन से पहले राजस्थान रोडवेज का महिलाओं को बड़ा तोहफा, अब यह रहेगी व्यवस्था

By: Naveen Parmuwal

Updated On:
13 Aug 2019, 03:27:38 PM IST

  • Advance Reservation Facility for Women in Roadways : राजस्थान रोडवेज ने स्वतंत्रता दिवस ( Independence Day 2019 ) से पहले अगस्त माह में महिलाओं के लिए 2 नई सौगात दी हैं।

सीकर.

Advance Reservation Facility for Women in Roadways : राजस्थान रोडवेज ने स्वतंत्रता दिवस ( independence day 2019 ) से पहले अगस्त माह में महिलाओं के लिए 2 नई सौगात दी हैं। राजस्थान सडक़ परिवहन निगम के डीजीएम (आईटी) ने महिलाओं को सफर के समय होने वाली परेशानियों के चलते यह व्यवस्था लागू की है। रक्षाबंधन त्योहार ( RakshaBandhan 2019 ) में अग्रिम आरक्षण की सुविधा 13 अगस्त को शुरू कर दी जाएगी। जिसके तहत महिलाओं को रोडवेज में सफर करने के लिए निशुल्क अग्रिम आरक्षण मिलेगा।वहीं महिला रोडवेज कर्मी को बच्चे की बीमारी व उच्च शिक्षा के लिए चाइल्ड केयर लीव मिलेगी। इस संबंध में प्रबंध निदेशक शुचि शर्मा ने आदेश जारी कर दिए हैं।


प्रिंट लेकर कर सकेंगी यात्रा
रक्षाबंधन के दिन बसों में काफी भीड़ हो जाती है। इसके चलते महिलाओं को खड़े होकर सफर करना पड़ता है। ऐसे में निशुल्क आरक्षण नहीं होने से परेशानी होती है। नई व्यवस्था के तहत कोई भी अग्रिम आरक्षण कराने के लिए वेबसाइट पर जाना होगा। इसके बाद ई-टिकटिंग ऑप्शन में जाकर मांगी जाने वाली जानकारी भरनी होगी। इसके बाद महिला यात्री का नाम व जेंडर में फीमेल दर्ज करना होगा। प्रकिया पूरी होने के बाद निशुल्क किराए की टिकट बन जाएगी। यात्रा के दौरान इसका प्रिंट परिचालक को दिखाकर सीट प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही यात्रा के दौरान पहचान पत्र भी साथ में रखना जरूरी होगा।


बच्चे की बीमारी और उच्च शिक्षा के लिए मिलेगी लीव
रोडवेज में कार्यरत महिला कर्मचारी भी बच्चे की बीमारी व उच्च शिक्षा के लिए चाइल्ड केयर लीव का लाभ उठा सकेगी। महिला कर्मचारी अपने पूरे सेवाकाल में 2 बच्चों की देखभाल के लिए 750 दिन की चाइल्ड केयर लीव मिलेगी। इसमें एक बार में न्यूनतम 15 दिन व अधिकतम 180 दिन का अवकाश लिया जा सकेगा। अभी सिर्फ प्रसूता कर्मचारी को ही चाइल्ड केयर लीव मिलता था। जारी आदेशों के अनुसार चाइल्ड केयर लीव महिला कर्मचारी के द्वारा अपने सबसे बड़े 2 बच्चों या उनमें से किसी एक बच्चे का पालन, परीक्षा या बीमारी आदि के समय देखभाल करने लिए मिलेगा। हालांकि अवकाश पर जाते समय यह भी सुनिश्चित करना होगा कि उसके अवकाश के दौरान विभागीय कामकाज पर कोई भी प्रभाव नहीं पड़ेगा।

Updated On:
13 Aug 2019, 03:27:38 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।