श्मशान भूमि की खुदाई मेें मिली 150 साल पुरानी रामदेवजी की मूर्ति

By: Gaurav Saxena

Updated On:
24 Aug 2019, 08:53:34 PM IST

  • खाटूश्यामजी के धींगपुर गांव में नरेगा कार्य के दौरान रामदेवजी की मूर्ति मिलने के बाद वहां लोगों की भीड़ उमड़ रही है। जैसे जैसे लोगों को पता चलता जा रहा है वैसे वैसे लोग रामदेवजी की 150 वर्ष पुरानी मूर्ति देखने पहुंच रहे हैं।

खाटूश्यामजी. इलाके के धींगपुर गांव के श्मशान भूमि में नरेगा की खुदाई के दौरान तकरीबन 150 साल पुरानी रामदेव जी की मूर्ति मिली। मूर्ति मिलने की सूचना पर मोक्ष धाम में ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। जानकारी के अनुसार शुक्रवार सुबह धींगपुर के मोक्षधाम में नरेगा मजदूर खुदाई का काम कर रहे थे। इसी दौरान सुबह 11 बजे करीब खेमचंद वर्मा आदि मजदूरों को एक पत्थर नजर आया। जब उसे खोदकर बाहर निकाला तो तकरीबन तीन फीट की रामदेवजी महाराज की मूर्ति निकली। सूचना पर पहुंचे उपसरपंच सत्यम शर्मा ने बताया कि मूर्ति लगभग डेढ़ सौ साल पुरानी है। गांव के वंदना वर्मा, छोटूराम कुमावत, विकास शर्मा आदि ने बताया कि भाद्रपद महिने में रामदेवजी की मूर्ति मिलना गांव के लिए शुभ संकेत है। ग्रामीणों ने उक्त स्थान पर मंदिर बनाने का फैसला लिया है।


पिंजरापोल गोशाला की जमीन को बचाने के कोशिश
लक्ष्मणगढ़. लक्ष्मणगढ़ पिंजरापोल गोशाला की जमीन को खुर्द बुर्द कर अवैध बेचान करने के मामले में लोगों में जागरूकता लाने के उद्देश्य से नगर के युवाओं ने शुक्रवार को हस्ताक्षर अभियान शुरू किया। भगवा रक्षा वाहिनी के बैनर तले शुरू किए गए उक्त अभियान का आगाज शिक्षाविद पवन गोयनका ने किया। संगठन के शहर अध्यक्ष जयशंकर पुजारी ने बताया कि अभियान के पहले दिन सैकड़ों व्यापारियों ने अपने हस्ताक्षर कर अभियान के प्रति समर्थन जताया। पुजारी ने बताया कि युवाओं की टीम वार्डवार गली-गली जाकर लोगों का समर्थन जुटाएगी। अभियान के आगाज के मौके पर संगठन के महामंत्री अमित कुमार जोशी, तहसील अध्यक्ष महेंद्र काछवाल, नवीन शर्मा आदि थे।

बावड़ी. सीकर जिले के ग्राम पंचायत बावड़ी में एनएच.52 पर स्थित राउमावि. बावड़ी के गेट बाहर विद्यालय की विवादित भूमि को लेकर विद्यालय भूमि बचाओ संघर्ष समिति के सदस्यों व ग्रामीणों का धरना दिया गया। साथ ही तहसीलदार खण्डेला द्वारा मौका स्थिति का जायजा दिखवाने को लेकर ग्रामीण अड़े रहे। संघर्ष समिति ने बताया कि खसरा नं. 312 का गलत तरीके से खोले गए भूमि नामांतरण को खारिज कर विद्यालय के नाम नामांतरण खोला जाए।

Updated On:
24 Aug 2019, 08:53:34 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।