सफेद शेरों की धरती में दहाड़ने 2 बजे सीधी पहुंच रहे नरेन्द्र मोदी, 25 मिनट के भाषण में होगी ये बात

By: suresh mishra

|

Updated: 26 Apr 2019, 12:39 PM IST

Sidhi, Sidhi, Madhya Pradesh, India

सीधी। सफेद शेरों के लिए विश्व में विख्यात विंध्य के सीधी शहर में शुक्रवार की दोपहर २ बजे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंच रहे है। नरेंद्र मोदी के चुनावी भाषणों में अक्सर दहाड़ सुनाई देती है। लेकिन विंध्य के धरती की दहाड़ शेरों के इर्द-गिर्द ही होती है। बताया गया कि सीधी लोकसभा से भाजपा की प्रत्याशी एवं वर्तमान सांसद रीती पाठक के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मतदाताओं से वोट मांगते नजर आएंगे। वे 25 मिनट के भाषण में तानसेन और बीरबल, सिंह और शेर, वीहर और बिछिया, टमस और सोन, ताना-बाना, सिंगरौली और सिंगापुर, बघेली में भाषण चर्चा का विषय बन सकते है।

बता दें कि पीएम नरेन्द्र मोदी बनारस लोकसभा से नामांकन दाखिल करने के बाद शुक्रवार की दोपहर 1.30 बजे सीधी के लिए उड़ान भरेंगे। वे सीधी में निर्धारित कार्यक्रम स्थल पर दोपहर 2.5 बजे पहुंचेगे। सभा को संबोधित करने के बाद नरेंद्र मोदी दोपहर 3.5 बजे जबलपुर के लिए रवाना होगे। उनके साथ कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी शामिल होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के लिए तीन हेलीपैड कार्यक्रम स्थल पर ही बनाए गए हैं। बताया गया कि एक हेलीपैड में सुरक्षा जवान, दूसरे में नरेंद्र मोदी व तीसरा हेलीपैड में पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के हेलीकाप्टर उतरेया है।

1500 जवान तैनात
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा के लिए सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे हैं। 1500 जवानों की ड्यूटी लगाई गई है। जिसमे एसपीजी कमांडों 13, एसपी रैंक के अधिकारी 5, एएसपी व डीएसपी 15, 1000 पुलिस बल, एसएएफ 9वीं बटालियन रीवा से 80 जवानों की तैनात किया गया है।

सभास्थल पर लगा जैमर
प्रधानमंत्री की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सीधी लोसभा क्षेत्र में आयोजित होने वाली सभास्थल पर जैमर लगाया गया है। बताया गया कि सभा स्थल पर 500 मीटर के आसपास लोकल नेटवर्क बंद रहेगा। सुरक्षा अधिकारियों का सिर्फ नेटवर्क काम करेगा।

फैक्ट फाइल
- एसपीजी कमांडो-13
- एसपी रैंक के अधिकारी-05
- एएसपी/डीएसपी-15
- बाहर से आने वाले सुरक्षा बल-1100
- एसएएफ 9वीं बटालियन रीवा-80

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।