जिले के किसान कृषि में नवाचारों को दें बढ़ावा, कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक किसानों को खेती के लिए करें जागरूक

By: Anil Singh Kushwaha

Updated On:
25 Aug 2019, 07:12:47 PM IST

  • कृषि और संबद्ध विभागों की कलेक्टर ने की समीक्षा

सीधी. कृषि एवं संबद्ध विभागों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने जिले में नवाचारों को प्रोत्साहित करने के लिए कहा है। कहा कि कुछ क्लस्टरों का चयन कर वहां के किसानों को नवाचारों के विषय में जागरूक करते हुए नवीन कृषि पद्धतियों के अनुसार कृषि, पशुपालन, उद्यानिकी, मछली पालन का कार्य कराएं। किसानों को नियमित मार्गदर्शन एवं आवश्यक सहायता उपलब्ध कराएं जिससे बेहतर परिणाम प्राप्त हो सकेगा।

बैठक में कलेक्टर ने दिए कई निर्देश
कलेक्टर ने जिले में अभी तक किए गए नवाचारों के व्यापक प्रचार-प्रसार के निर्देश दिए हैं। चौधरी ने कहा कि इनके प्रचार-प्रसार से किसानों में नवीन पद्धतियों के प्रति विश्वास बढ़ता है तथा वे सीमित संसाधनों से ही बेहतर परिणाम प्राप्त करते हैं। कृषि को लाभ का धंधा बनाने के लिए सभी विभागों को आपसी समन्वय के साथ कार्य करने की आवश्यकता है इसमें कृषि, उद्यानिकों, पशुपालन, मत्स्य पालन विभाग के साथ-साथ कृषि विज्ञान केंद्र तथा आजीविका मिशन की महत्वपूर्ण भूमिका है। कलेक्टर चौधरी ने कहा कि आजीविका मिशन छोटे-छोटे समूहों का निर्माण कर उन्हें मुर्गी पालन, उद्यानिकी, सब्जी उत्पदन की गतिविधियों में सम्मिलित होने के लिए प्रेरित करें तथा संबंधित विभागों से आवश्यक समन्वय स्थापित कर सहयोग प्रदान कराएं।

कृषि वैज्ञानिक जिले के किसानों को करें जागरूक
कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक जिले के विभिन्न स्थानों में मिट्टी एवं जलवायु के आधार पर नवीन खेती की पद्धतियों को लागू करने में किसानों को जागरूक करने का कार्य करें। कलेक्टर ने आत्मा परियोजना अंतर्गत किसानों को जागरूक करने के लिए शिविरों एवं भ्रमण कार्यक्रम के आयोजन के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर चौधरी ने स्पष्ट किया है कि कृषि एवं संबद्ध क्षेत्र शासन की प्राथमिकता है जिसमें बहुत कुछ करने की संभावना है। इसे जमीनी स्तर पर क्रियान्वित किया जाए।

मनमानी करने पर होगी कार्रवाई
बैठक में उपसंचालक कृषि केके पांडेय, उपसंचालक पशुपालन डॉ. एमके गौतम, वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केंद्र महेंद्र सिंह, सहायक संचालक मत्स्य पालन आरएन पटेल, सहायक संचालक उद्यानिकी केएस चंदेल, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला सहकारी बैंक ज्ञानेंद्र पांडेय, सहायक आयुक्त सहकारिता दीप्ती वनवासी, सचिव कृषि उपज मंडी उमाशंकर अग्निहोत्री सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित रहें।

Updated On:
25 Aug 2019, 07:12:47 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।