उपभोक्ताओं को बांटने के बजाए जंगल में फेंक दिए बिजली बिल

By: Anoop Bhargava

Published On:
Aug, 12 2019 08:40 PM IST

  • - कराहल क्षेत्र की नोनपुरा घाटी के पास पड़े मिले बिजली बिल
    - जेई बोले मुझे नही है पता, अभी कर्मचारियों को भेजकर दिखवाता हूं

श्योपुर/कराहल
विद्युत वितरण कंपनी की लापरवाही उपभोक्ताओं को भारी पड़ रही है। उपभोक्ताओं तक पहुंचने वाले बिल जंगल में सड़क किनारे फेंके जा रहे हैं। श्योपुर-शिवपुरी हाइवे स्थित नोनपुरा घाटी के पास सोमवार सैंकड़ों की संख्या में बिजली बिल सड़क किनारे पड़े मिले। कर्मचारियों ने बिलों को उपभोक्ता तक पहुंचाने की जगह जंगल में फेंक दिया।
बिल माह जून में जारी किए गए थे जिन्हें माह जुलाई के अंत तक उपभोक्ताओं को भरने थे। उपभोक्ताओं तक बिल नहीं पहुंचने के कारण आखिरी तारीख निकल गई। जिससे उपभोक्ताओं को अब अतिरिक्त चार्ज का भार झेलना पड़ेगा। कराहल क्षेत्र के कई गांव में बिजली बिल नहीं पहुंचने से उपभोक्ता परेशान हैं।
इन गांवों में वितरित होने थे बिल
बिजली बिल बांटने के बजाए जंगल में फेंक दिए गए। उनका वितरण ग्राम सेमरा, निमानियां, कांनरखेड़ा, सहित आसपास के गांवों में किया जाना था, लेकिन विद्युत वितरण कंपनी के कर्मचारियों ने इन्हें बांटने की बजाए श्योपुर शिवपुरी हाइवे के किनारे जंगल में फेंक दिया।
वर्जन
मुझे जानकारी नहीं है। बिल जंगल में कैसे पहुंच गए। यह गंभीर मामला है। अभी कर्मचारियों को भेजकर मामला दिखवाता हूं।
रंजीत सिंह भदौरिया
जेई, विद्युत वितरण कंपनी, कराहल

Published On:
Aug, 12 2019 08:40 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।