कश्मीर मुद्दे पर केंद्र सरकार के समर्थन में आई ये कांग्रेस विधायक

By: Ankita Sharma

Updated On:
06 Aug 2019, 02:37:40 PM IST

 
  • — रायबरेली की कांग्रेस विधायक अदिति सिंह ने कही ये बड़ी बात

जम्मू-कश्मीर (jammu and kashmir) से आर्टिकल 370 (article 370) हटाने के केंद्र सरकार के फैसले से एक ओर जहां आम जनता खुशी जाहिर कर रही है। वहीं कांग्रेस पार्टी भाजपा सरकार के इस फैसले का विरोध करती दिख रही है। हालांकि अब कांग्रेस भी मामले में दो फाड़ नजर आ रही है। एक धड़ा जहां इस फैसले के खिलाफ खड़ा है तो दूसरा इसका समर्थन कर रहा है। अब उत्तरप्रदेश के रायबरेली सदर सीट से कांग्रेस विधायक अदिति सिंह (aditi singh) ने भी सरकार के फैसले की सराहना की है। अदिति का कहना है कि केंद्र सरकार ने जम्मू—कश्मीर को लेकर एक बड़ा फैसला किया है। और इसका फायदा जम्मू—कश्मीर (jammu and kashmir) के लोगों को जरूर मिलेगा। अदिति का कहना है कि अब यहां के लोग मुख्यधारा में जुड़ सकेंगे। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि यह उनका व्यक्तिगत मत है।
आपको बता दें कि आज जम्मू—कश्मीर पुनर्गठन बिल लोकसभा में पेश किया गया। इस दौरान कांग्रेसी नेताओं ने केंद्र सरकार के इस फैसले पर आपत्तियां जताईं। कांग्रेसी नेता (congress on article 370) अधीर रंजन चौधरी और अमित शाह (amit shah) के बीच तीखी नोंक—झोंक हो गई। अधीर ने कहा कि पूरे कश्मीर को जेलखाना बना दिया गया है। पूर्व मुख्यमंत्रियों को जेल में बंद कर दिया गया है। अधीर ने भाजपा पर नियम तोडने का आरोप भी लगाया। गृहमंत्री शाह ने इसपर आपत्ति जताई। और अधीर से पूछा कि वे बताएं कि कौनसे नियम तोडे गए हैं। वहीं कांग्रेस के सांसद मनीष तिवारी ने जम्मू कश्मीर के मौजूदा हालात देख लोकसभा स्थगन का प्रस्ताव दिया। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर के महाराजा ने घुटने टेकने और पाकिस्तान के साथ जाने की जगह धर्म निरपेक्ष भारत को चुना था। हैदराबाद, जूनागढ और जम्मू कश्मीर अगर आज भारत का अभिन्न अंग हैं तो ये जवाहर लाल नेहरू की वजह से हैं। वहीं शाह ने पूछा कि कांग्रेस स्पष्ट बताए कि वह कश्मीर से आर्टिकल 370 (article 370) हटाने से सहमत है कि नहीं।

Updated On:
06 Aug 2019, 02:37:40 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।