मुद्रा योजना में बड़ा घोटाला आया सामने, प्रधानमंत्री तक शिकायत पहुंचने से मचा हड़कंप

By: Iftekhar Ahmed

Updated On: 25 Feb 2019, 07:51:21 PM IST

  • जिन मिहलाओं के नाम पर फर्जी तरीके से 50-50 के लोन बांटे गए, उसने खोला मोर्चा

शामली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की बहु् प्रचारित मुद्रा योजना में बड़ा घोटाला सामने आया है। कैराना में प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र पर एक बार फिर भ्रष्टाचार की आंच आई है। कंडेला गांव की रहने वाली दर्जनों महिलाओं ने तहसील परिसर में प्रदर्शन कर अमित खादी ग्रामोद्योग में धांधलीबाजी और फर्जीवाड़ा कर उनके नाम पर 50-50 हजार रूपये का मुद्रा लोन स्वीकृत कराने का आरोप लगाया है। मामले की शिकायत मिलने पर एसडीएम ने जांच के आदेश दे दिए हैं।

यह भी पढ़ें: देवबंद से आतंकी पकड़े जाने के बाद हथियारों से लैस लोगों ने दी दारुल उलूम को तहस-नहस करने की चेतावनी, देखें वीडियो
गांव कंडेला निवासी दर्जनों महिलाओं ने सोमवार को एकत्र होकर तहसील परिसर में जमकर हंगामा और प्रदर्शन किया। उनका कहना था कि गांव में संचालित प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र में अमित खादी ग्रामोद्योग द्वारा स्किल इंडिया के अलावा प्रधानमंत्री द्वारा चलाई कई योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। लगभग 30 महिलाएं अमित खादी ग्रामोद्योग में चरखा चलाने का कार्य करती थीं, जिन्हें प्रतिमाह 25-25 हजार रूपये वेतन के तौर पर देने का वादा किया गया था। आरोप है कि उन्हें वेतन नहीं दिया गया और अभद्रता कर कैशल केंद्र से बाहर निकाल दिया गया। अब उन्हें डराया-धमकाया जा रहा है। महिलाओं का यह भी आरोप है कि उनके नाम से फर्जी तरीके से हस्ताक्षर कराकर 50-50 हजार रूपये का मुद्रा लोन भी स्वीकृत करा लिया गया है। बैंक से उनके पास नोटिस जारी होने के बाद यह सूचना उन्हें मिली तो उनके पैरों तले से जमीन खिसक गई।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव से पहले सीएम योगी के लिए आई अच्छी खबर, भाजपा समर्थकों के खिले चेहरे

उन्हें कार्य से हटाकर संचालक द्वारा अन्य महिलाओं को रख लिया गया है। उन्होंने केंद्र में धांधलीबाजी का आरोप लगाया है। महिलाओं ने एसडीएम को ज्ञापन देकर निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की मांग की है। साथ ही, अवगत कराया है कि वह इस संबंध में प्रधानमंत्री के अलावा अधिकारियों को भी पत्र प्रेषित कर चुकी हैं। एसडीएम ने महिलाओं को आश्वासन देते हुए मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। प्रदर्शन करने वालों में सोनम, कविता, सीमा, आरती, सुधा, रचना, कुसुम, निशु, कमला, सरोज, सोमकली, रीना, त्रिवती, सुमन, ओमवती, सुनीता, कौशल, बबली आदि मौजूद थीं।

यह भी पढ़ें: महागठबंधन को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, इस ब्रह्मास्त्र को चलाने के लिए सपा-बसपा व रालोद नेता आए साथ

संचालक ने यह कहा
केंद्र संचालक राजेंद्र का कहना है कि प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र द्वारा मुद्रा लोन नहीं दिया जाता। खादी ग्रामोद्योग द्वारा लगभग 40 महिलाओं को 15-15 हजार रूपये के चरखे कताई के लिए दिए गए थे, जिनसे वर्ष 2015 से कताई का कार्य चल रहा है। कुछ दिन पूर्व 50-50 हजार रूपये का मुद्रा लोन किया गया था, जिसमें चरखे की रकम भी शामिल थीं। भ्रष्टाचार का आरोप निराधार हैं। मामला काम कम और अधिक करने का है।

Updated On:
25 Feb 2019, 07:51:20 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।