रालोद के युवा नेता जयंत चौधरी ने किसान राजनीति पर किया बड़ा उलटफेर, देखें वीडियो

By: Iftekhar Ahmed

Updated On: Jan, 27 2019 08:15 PM IST

  • योगी सरकार पर जानबूझकर किसानों का भुगतान नहीं करने का लगाया आरोप

     

शामली. बकाया गन्ने के सम्पूर्ण भुगतान की मांग को लेकर शामली शुगर मिल में चल रहे किसानों के आन्दोलन में पहुंचे रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने कहा कि प्रदेश सरकार में राजनैतिक दबाव है, जिस कारण प्रदेश सरकार जानबूझकर किसानों का भुगतान नहीं करना चाहती है। उन्होंने कहा कि किसान परेशान हाल है। यदि शासन प्रशासन ने किसानों को छेड़ने का प्रयास किया तो परिणाम भुगतने होंगे।

शामली शुगर मिल में बकाया गन्ने का सम्पूर्ण भुगतान की मांग को लेकर पिछले करीब 9 दिनों से जनपद के किसानों का धरना प्रदर्शन जारी है। किसानों ने शुगर मिल को बंद कराकर धरना दिया हुआ है। जिसके चलते गुरूवार को रालोद उपाध्यक्ष जयंत चौधरी किसानों के धरने पर पहुंचे। जहां किसानों को संबोधित करते हुए उन्होने कहा कि पिछले लगातार नौ दिनों से भुगतान की मांग को लेकर किसानों का आन्दोलन चल रहा है, लेकिन धरने पर बार बार राजनैतिक धरना नही है की चर्चा की जा रही है। यही कारण है कि आज किसान परेशान है, जिसकी कोई सुनने वाला है। उन्होने कहा कि सभी का चाहे वह जाट, गुर्जर, मुस्लिम या अन्य कोई भी वर्ग हो अपनी राजनैतिक पार्टी है, लेकिन किसानों की कोई राजनैतिक पार्टी नही है। यदि किसान राजनैतिक से दूर होगा तो वह परेशान होगा। यदि हम लोग साथ बैठेगे और अपनी मांगों को रखेगे तो मंत्री कुछ नही होता। सरकारे किसान ही बनता है। गन्नामंत्री के कार्यकाल में उनके गृह जनपद में ही किसान परेशान है। यदि उनके अंदर कुछ समझदारी है तो मुख्यमंत्री के पास जाकर अपना त्यागपत्र दे देना चाहिए। गन्नामंत्री पर खुलेआम आरोप लगा रहे है। ऐसा लग रहा है कि उनके पूंजीपतियों के साथ संबंध ज्यादा अच्छे है। इसलिए किसान की फिर्क कम है। उन्होने कहा कि शामली जनपद में पिछले 9 दिनों में राजनैतिक प्रक्रिया आनी चाहिए थी वह नही हुई। शामली वह धरती है जहां से दिये गए नारे पूरे देश में छा जाते है। किसानों ने केन्द्र तथा प्रदेश में भाजपा की दोनों सरकारे बनाई, लेकिन आज कोई भी किसानों की बात करने को तैयार नही है। प्रदेश सरकार में राजनैतिक दबाव है, जिस कारण प्रदेश सरकार जानबूझकर किसानों का भुगतान नही करना चाहती है। उन्होने कहा कि किसान परेशान हाल है यदि शासन प्रशासन ने किसानों को छेडने का प्रयास किया तो परिणाम भुगतने होगे। उन्होने कहा कि किसानों को अपने आन्दोलन में संयम बरतना चाहिए। वह किसानों के आन्दोलन के साथ यदि आवश्यकता पडी तो वह दोबारा भी धरने पर आयेगे। इस अवसर पर रालोद महासचिव त्रिलोक त्यागी, युवा प्रदेश अध्यक्ष वसीम रजा, एमएलसी विरेन्द्र सिंह, सांसद तबस्सुम हसन, पूर्व सांसद अमीर आलम खां, पूर्व विधायक नवाजिश आलम, अशरफ अली खां, वाजिद अली प्रमुख, योगेन्द्र चैयरमैन, वीर सिंह मलिक, मनीष चौहान, प्रोफेसर सुधीर पंवार, बाबा श्याम सिंह, बाबा सूरजमल, बाबा संजय कालखांडे, रजनीश चौहान, देशपाल राणा, विक्रांत जावला, हरीश चौधरी, मदन सिंह चौहान, राजन जावला, यशपाल सिंह, मनोज राणा, रमा नागर, मिनाक्षी चौधरी, दीपा त्यागी, पूर्व विधायक राजेश्वर बंसल, पूर्व विधायक वीरपाल राठी, भूपेन्द्र कौर आदि मौजूद रहे।

Published On:
Jan, 27 2019 08:15 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।