एसईसीएल के नियमों का ग्रामीणों ने किया विरोध

By: Lav Kush Tiwari

Published On:
Aug, 14 2019 06:00 AM IST

  • डीआरआरसी की बैठक एक साथ कराने की मांग

शहडोल. कलेक्ट्रेट कार्यालय सभागार में मंगलवार को आयोजित जन सुनवाई के दौरान सीइओ जिला पंचायत पार्थ जयसवाल ने लोगों की शिकायतें सुनीं और संबन्धित विभाग के अधिकारियों को शिकायतों के त्वरित निराकरण के निर्देश दिए हैं।
मामला-पहला-
कलेक्ट्रेट पहुंचे रामपुर के किसान-
जनपद पंचायत बुढ़ार के रामपुर ग्राम पंचायत अन्तर्गत बटुरा ओपन माइंस की अधिग्रहित जमीन और उसके बदले नौकरी के नियमों और सर्तों को लेकर रामपुर के किसान कलेक्ट्रेट पहुंचे और सीइओ जिला पंचायत को जन सुनवाई के दौरान शिकाकयत दर्ज कराते हुए एसईसीएल द्वारा रामपुर अन्तर्गत रामपुर बटुरा ओपन माइंस प्रोजेक्ट के लिए अधिग्रहित एवं स्वीकृत समस्त भूमि का डीआरआरसी की बैठक एक साथ कराए जाने की मांग की है। इस दौरान ग्रामीणों ने बताया कि नियमों एवं सर्तों के अनुसार किसानों की जमीन का उचित मुआवजा और रोजगार दिलाए जाने की मांग की है।
मामला नंबर-2
नहीं मिल रही नकल-
लाल सिंह पिता स्व बाबू सिंह ग्राम पचंायत पोंगरी नायक मोहल्ला ने सीइओ को शिकायत करते हुए बताया कि आराजी खसरा नम्बर 428/1 रकबा 2.50 एकड़ जिसमें 1980 से कबिज है। जिसकी नकल मुझे नही प्राप्त हो रही है। उसने बताया कि कई बार अधिकारियों से शिकायत करने के बाद भी मामले का निराकरण नहीं किया जा रहा है।उसने सीइओ से तहसीलदार सोहागपुर से नकल दिलवाए जाने की मांग की है।
मामला नंबर-तीन
शासकीय जमीन से अतिक्रमण हटाने की मांग-
चक्रधर द्विवेदी ग्राम बनसुकली ने सीइओ को शिकायत करते हुए बताया कि माधवेन्द्र द्विवेदी पिता जगदीश द्विवेदी निवासी वार्ड नम्बर 13 कुसरवाह जयसिंहनगर द्वारा शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 269/1 के अंश रकवा 5 डि0मि0 में अवैध कब्जा कर अलीशान पक्का मकान का निर्माण कर लिया है। चक्रधर द्विवेदी ने शासकीय भूमि से अतिक्रमण हटाए जाने की मांग की है। इस संबन्ध में सीइओ ने तहसीलदार जयङ्क्षसंहनगर को जांच कर प्रकरण का निराकरण करने का निर्देश दिया। इसी प्रकार सीइओ ने अन्य आवेदनो की सुनवाई की तथा प्राप्त आवेदनो को सम्बंधित विभागो की ओर भेजकर निराकरण करने के निर्देश दिए।

Published On:
Aug, 14 2019 06:00 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।