10वीं पास युवक को खुद को बताया जज, रईसी देख जाल में फंसी मेडिकल स्टूडेंट, पुलिस अफसरों से सीखता था...

By: Muneshwar Kumar

Updated On: Aug, 13 2019 03:30 PM IST

  • shahdol police: शहडोल पुलिस ने एक फर्जी जज को गिरफ्तार किया है। जो लोगों से जज के नाम पर ठगी करता था।

शहडोल . भिण्ड से शहडोल ( Shahdol police ) आकर खुद को दसवीं पास ( 10th pass ) युवक जज ( fake judge ) बताता था। जज के नाम पर वह ठगी का नया नेटवर्क यहां तैयार कर रहा था। कभी लोगों को जमानत देने के नाम पर ठगता तो कभी युवाओं को नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी की। कई जगहों से पैसे लेकर चंपत होने के बाद मामले की शिकायत शहडोल पुलिस तक पहुंची। आरोपी के बारे में जो खुलासे हुए उससे पुलिस अफसर भी हैरान रह गए। इस फर्जी जज ने कोई ऐसा सगा नहीं, जिसे ठगा नहीं।

 

दरअसल, इस फर्जी जज के बारे में शहडोल पुलिस को लगातार शिकायत मिल रही थी। जिसके बाद एसपी अनिल सिंह कुशवाह और टीआई रावेन्द्र मिश्रा ने फर्जी मजिस्ट्रेट की गिरफ्तारी के लिए टीम बनाई। प्लानिंग तैयार करते हुए आरोपी को शहडोल दोबारा बुलाया गया। यहां पहुंचते ही कोतवाली पुलिस की टीम आरोपी को दबोच ली। टीआई रावेन्द्र द्विवेदी के अनुसार, आरोपी संदीप सिंह परिहार उर्फ विजय धुर्वे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी ने प्रदेश के कई जगहों पर युवक और युवतियों के साथ धोखाधड़ी की है।

 

10वीं पास है युवक
टीआई रावेंद्र द्विवेदी के अनुसार आरोपी सिर्फ 10वीं पास है, लेकिन लोगों को ग्वालियर खंडपीठ का जज बताता था। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर सुराग जुटा रही है। एसपी शहडोल अनिल कुशवाह ने कहा कि आरोपी काफी शातिर था। पुलिस ने बड़ी मशक्कत के बाद प्लानिंग तैयार करते हुए पकड़ा है। आरोपी ने नौकरी और जमानत देने के नाम पर कई जगहों में ठगी है। शादी का झांसा देकर भी धोखाधड़ी की है।

fake judge

 

रईसी दिखा बनाता था भौकाल
पुलिस ने बताया कि आरोपी लग्जरी कार से घूमता था और महंगी वस्तुओं के उपयोग करने का शौक रखता था। सोशल मीडिया में अलग-अलग जगहों पर खुद का स्टे्टस जज लिखकर रखा था। इससे लोग आसानी से आरोपी संदीप उर्फ विजय की बातों पर आ जाते थे। बड़े होटलों में ठहरकर लोगों के साथ ठगी करता था।

इसे भी पढ़ें: प्रसाद खिला छह साधू बस स्टैंड से बच्चे को उठाकर ले जा रहे थे साथ, पकड़े जाने पर सभी की सामने आई सच्चाई


गर्लफ्रेंड से भी की ठगी
आरोपी ने खुद को जज बताते हुए जबलपुर में पढ़ने वाली मेडिकल छात्रा से भी दोस्ती कर ली थी। बाद में शादी का झांसा देकर काफी पैसा ले लिया था। युवती शहडोल की रहने वाली थी तो आरोपी अक्सर शहडोल आता जाता रहा था। यहां तक की युवती के घर में भी पैठ बना ली थी। हाल ही में युवती के बीमार पड़ने पर खुद के पैसों से इलाज कराया था। बाद में युवती से ही पैसों की मांग करने लगा था। संदेह होने पर यह मामला भी पुलिस तक पहुंचा। आरोपी पर भिण्ड में लूट का भी मामला दर्ज है।

fake judge

 

भाई को जमानत दिलवा दूंगा
आरोपी शहडोल के एक होटल में ठहरा था। यहां होटल के मैनेजर से मुलाकात हुई तो खुद को जज बताया। होटल मैनेजर ने भाई के कटनी जेल में बंद होने की जानकारी दी। जिस पर आरोपी फर्जी जज ने मैनेजर को आश्वासन दिया कि ग्वालियर से जबलपुर हाईकोर्ट ट्रांसफर हुआ है। खुद ही कुछ दिन में इस मामले की फाइल मेरे पास आ जाएगी और मैं जमानत दे दूंगा। इसके एवज में आरोपी ने 30 से 40 हजार रुपये ले लिए। बाद में कटनी बुलाने के बाद चंपत हो गया। पुलिस ने दोबारा किसी तरह आरोपी को होटल बुलाया और यहां पहुंचते ही दबोच लिया।

इसे भी पढ़ें: आधी रात को उससे मिलने पहुंची लड़की, बच्चा चोर समझ लोग लगे पीटने, प्रेमी मार खाता छोड़ हो गया फरार

 

पुलिस अफसरों से सीखता था बारीकियां
पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने कई बड़े अफसरों से नजदीकियां भी बताई। आरोपी के अनुसार, अधिकारियों से उनके रहन सहन और बात करने के तरीके के साथ कई बारीकियां भी सीखता था। आरोपी ने प्रदेश के कई जगहों पर धोखाधड़ी की बात स्वीकार की है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

Published On:
Aug, 13 2019 01:45 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।