पासपोर्ट कार्यालय के लिए नहीं मिल रही जमीन

दिसंबर 2018 से अटका मामला, कलेक्टर को अधीक्षक ने लिखा पत्र

शहडोल. संभागीय मुख्यालय में पासपोर्ट कार्यालय नहीं खुलने से संभाग के लोग परेशान हो रहे हैं और पासपोर्ट बनवाने भोपाल और जबलपुर सहित अन्य जिलों का चक्कर काटने पर मजबूर हो रहे हैं। पोस्ट आफिस के पास जगह 300 वर्ग फिट की जगह नहीं होने से मामला दिसंबर 2018 से अटका हुआ है। इस मामले को लेकर 31 दिसंबर 2018 को सचिव ज्ञानेश्वर एम मुले सीपीवी एण्ड ओआईए ने तत्कालीन सांसद ज्ञान सिंह को पत्र लिखते हुए कहा था कि पोस्ट आफिस के पास जमीन नहीं होने के कारण पोस्ट आफिस पासपोर्ट कार्यालय खोलने में परेशानी हो रही है। इस पत्र के बाद भी तत्कालीन सांसद ने पासपोर्ट कार्यालय खोले जाने की दिशा में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई और नतीजा यह रहा कि अब तक संभाग के लोगों को इस सुविधा का लाभ अब तक नहीं मिला है।
समाजसेवियों ने भी कलेक्टर को दिया पत्र-
पासपोर्ट कार्यालय खोले जाने मामले को लेकर नगर के समाजसेवी सुशील सिंघल के नेतृत्व में १७ अक्टूबर को कलेक्टर से मिलकर कलेक्ट्रेट परिसर स्थित पोस्ट आफिस अथवा उसके आसपास 300 वर्ग फिट जमीन दिलाए जाने पत्र दिया है। पत्र में उल्लेख किया गया है कि पोस्ट आफिस के पास जमीन नहीं होने से पासपोर्ट कार्यालय नहीं खुलने से लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
इधर अधीक्षक ने भी कलेक्टर को लिखा पत्र-
संभागीय मुख्यालय में पासपोर्ट कार्यालय खोले जाने को लेकर डाक घर अधीक्षक ने भी 15 अक्टूबर को कलेक्टर ललित दाहिमा को पत्र लिखते हुए कहा है कि पोस्ट आफिस कार्यालय में पासपोर्ट कार्यालय खोले जाने के लिए जमीन उपलव्ध नहीं है। इसलिए कलेक्ट्रेट स्थित उपडाकघर तथा उसके आसपास 300 वर्ग फिट जमीन दिलाई जाए, जिससे पोस्ट आफिस पासपोर्ट कार्यालय खोला जा सके। उन्होने पत्र में कहा है कि 20 जनवरी 2019 को सहायक पासपोर्ट अधिकारी द्वारा प्रधान डाकघर का विजिट किया गया था, जिसमें पासपोर्ट कार्यालय खोले जाने के लिए उपयुक्त स्थान नहीं पाया गया, जिससे पासपोर्ट कार्यालय नहीं खुल सका।
कलेक्टर से मांगी जगह
पासपोर्ट कार्यालय खोले जाने के लिए मुख्य डाकघर में जमीन नहीं है, कलेक्ट्रेट स्थित उप डाकघर के पास जमीन दिलाए जाने के लिए कलेक्टर को अभी हाल में पत्र लिखा गया है। स्थान मिलते ही पासपोर्ट कार्यालय खोले जाने की कार्रवाई की जाएगी।
एके जैन
अधीक्षक डाकघर
शहडोल

lavkush tiwari
और पढ़े
Web Title: Land not available for passport office
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।