मांगों को लेकर धरने पर बैठे छात्र

By: Rakesh Verma

Updated On:
11 Jul 2019, 02:18:58 PM IST

  • मांगों को लेकर धरने पर बैठे छात्र

सवाईमाधोपुर . विभिन्न मांगों के पूरा नहीं होने से नाराज विद्यार्थियों ने बुधवार को शहीद कैप्टन रिपुदमन राजकीय महाविद्यालय के वाणिज्य संकाय के सामने जमकर हंगामा व प्रदर्शन किया। विद्यार्थी मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए। छात्रसंघ अध्यक्ष दिनेश मीणा ने बताया कि कॉलेज में समस्याओं का अंबार है। वहीं विद्यार्थियों की 15 सूत्रीय मांगे लम्बे समय से लंबित चल रही हैं। इस संबंध में कई बार जिला कलक्टर, प्राचार्य आदि को ज्ञापन सौंपा जा चुका है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं होने से हालात जस के तस हैं। इससे विद्यार्थियों में रोष है। उन्होंने बताया कि पूर्व में दिए गए ज्ञापन में भी मांगों के पूरा नहीं होने पर हड़ताल की चेतावनी दी गई थी, लेकिन इसके बाद भी प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की। इस दौरान मोहित मीणा, अजय जैलिया, अमन चौधरी, मनीष शर्मा, विष्णु जाट व विनोद यादव आदि मौजूद थे।


समझाइश पर भी नहीं बनी बात
विद्यार्थियोंं के कॉलेज के मुख्य गेट के बाहर हड़ताल पर बैठने के बाद दोपहर को कॉलेज प्रशासन की ओर से व्याख्याताओं का एक दल हड़ताल कर रहे विद्यार्थियों की समझाइश के लिए आया। उन्होंने विद्यार्थियों की मांगों के संबंध में आयुक्तालय व निदेशालय को पत्र भेजने की बात कही। विद्यार्थी मांगों को तत्काल पूरा कराने व लिखित में आश्वासन देने पर अड़ गए।


यह है विद्यार्थियों की मांगे
विद्यार्थी रसायान शास्त्र, वनस्पति शास्त्र, प्राणी शास्त्री में एमएससी की सुविधा, पीजी में हिन्दी साहित्य, भूगोल, समाजशास्त्र आदि विषयों को जोडऩे, वाणिज्य संकाय में नवनिर्मित पुस्तकालय को शुरू करने, परिसर में कैंटीन, पार्किंग आदि के प्रबंध करने, बंद पड़े छात्रावास को शुरू करने, व्याख्याताओं के रिक्त पदों को भरने, कक्षा कक्षों में पंखों की व्यवस्था करने आदि मांगों को लेकर भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं।

Updated On:
11 Jul 2019, 02:18:58 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।