विकास की राह में रोड़ा बन रही मंडल प्रबंंधक की उदासीनता

By: Rajeev Pachauri

Updated On:
11 Jun 2019, 08:58:10 PM IST

  • गंगापुरसिटी . जनचेतना विकास मंच के तत्वावधान में मंगलवार को विभिन्न व्यापारिक संगठनों एवं सामाजिक संस्थाओं ने विभिन्न मंागों को लेकर अतिरिक्त जिला कलक्टर के रीडर योगेन्द्र कुमार शर्मा को रेल मंत्री, रेलवे बोर्ड अध्यक्ष एवं रेल महाप्रबंधक जबलपुर के नाम ज्ञापन सौंपा।

गंगापुरसिटी . जनचेतना विकास मंच के तत्वावधान में मंगलवार को विभिन्न व्यापारिक संगठनों एवं सामाजिक संस्थाओं ने विभिन्न मंागों को लेकर अतिरिक्त जिला कलक्टर के रीडर योगेन्द्र कुमार शर्मा को रेल मंत्री, रेलवे बोर्ड अध्यक्ष एवं रेल महाप्रबंधक जबलपुर के नाम ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया कि गंगापुरसिटी के वरिष्ठ नागरिकों व विभिन्न संगठनों के लगभग तीन वर्षांे के प्रयासों के बाद रेल प्रबंधक कोटा ने गंगापुरसिटी में खाली पड़ी सैकड़ों बीघा जमीन के उपयोग के लिए कार्गो, लॉजिस्टिक पार्क, ओपीटी सेन्टर, मल्टी फंक्शनल कॉम्पलेक्स आदि योजनाओं के प्रस्ताव जबलपुर जोन के महाप्रबंधक को भिजवाए थे, जबकि लोको शेड की दो मंजिल के विशाल भवन व रेलवे स्कूल की बिल्डिंग, अधिकारी विश्राम गृह, चर्च ग्राउंड एवं अस्पताल आदि रेल भवन मौजूद होते हुए भी विभिन्न संगठनों की ओर से तीन प्रमुख परियोजनाओं की मांग की रेल मंडल प्रबंधक कोटा ने अनदेखी की है।

उनकी ओर से जोनल ट्रेनिंग सेन्टर, रेलवे सुरक्षा बल ट्रेनिंग सेन्टर एवं मल्टीडिसिप्लेनरी सेन्टर के प्रस्ताव महाप्रबंधक जबलपुर को नहीं भिजवाए गए। इससे जनता में रोष है। उन्होंने रेल मंडल कोटा से तीनों प्रशिक्षण केन्द्रों की परियोजनाओं के प्रस्ताव मंगवाने की अपील की है।

ज्ञापन के दौरान रेलवे पेंशनर्स एसोसिएशन के याकूब खान, राजस्थान पेंशनर्स समाज के जगदीश प्रसाद दुबे, व्यापार मण्डल अध्यक्ष कृष्ण कुमार झाम, प्रादेशिक प्राइवेट चिकित्सा समिति अध्यक्ष डॉ. जेके तलवार, ईश्वरलाल शर्मा, ओमप्रकाश शर्मा, गोविन्द गुप्ता, महेश गौतम, अनिल दुबे, चौखे लाल वर्मा, रघुनंदन पचौरी, मोहनलाल एवं घनश्याम मेठी आदि सदस्य मौजूद रहे।

Updated On:
11 Jun 2019, 08:58:10 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।