आग में खाक हुए तीन परिवारों के आशियाने

By: Rajeev Pachauri

Published On:
Jun, 11 2019 08:37 PM IST

  • बामनवास (गंगापुरसिटी) . बिंजारी गांव में मंगलवार सुबह आग लगने से तीन परिवारों के आशियाने जलकर खाक हो गए। गनीमत यह रही कि उनमें अंदर बैठे लोग तथा बच्चों को सुरक्षित आग की लपटें उठने के साथ ही बाहर निकाल लिया गया। अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।

बामनवास (गंगापुरसिटी) . बिंजारी गांव में मंगलवार सुबह आग लगने से तीन परिवारों के आशियाने जलकर खाक हो गए। गनीमत यह रही कि उनमें अंदर बैठे लोग तथा बच्चों को सुरक्षित आग की लपटें उठने के साथ ही बाहर निकाल लिया गया। अन्यथा बड़ा हादसा हो सकता था।


तीनों परिवारों के छप्परपोश पास-पास थे। आग लगते ही एक-एक कर उनमें आग फैलती चली गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक गर्मी के चलते आग पर काबू पाना संभव नहीं हो सका। आग बुझाने के लिए दमकल की भी मदद मांगी गई, लेकिन गंगापुरसिटी से यहां आने में दमकल को करीब एक घंटे का समय लग गया। ऐसे में चाहकर भी आग नहीं बुझ सकी। सूचना मिलते ही पुलिस तथा प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए। हल्का पटवारी भी मौका मुआयना कर आगजनी से तीनों परिवारों के हुए नुकसान की आंकलन रिपोर्ट तैयार की है।


कांग्रेस के सहकारिता प्रकोष्ठ के ब्लॉक अध्यक्ष दिनेश मीना के अनुसार आगजनी में रामप्रसाद पुत्र मूलचंद मीना के 1 लाख 78 हजार 500, भरतलाल पुत्र किशनलाल मीना के 1 लाख 90 हजार 200 तथा श्यामलाल पुत्र बदरीलाल मीना के कुल 2 लाख 13 हजार रुपए के नुकसान का आंकलन पटवारी की रिपोर्ट में किया गया है। उन्होंने बताया कि आगजनी में इन परिवारों के दैनिक घरेलू उपयोगी सामान, अनाज, चारा, बिस्तर सहित पूरा सामान जलकर राख हो गया। सूचना पर घटनास्थल पर पहुंचे भामाशाहों की ओर से मौके पर ही इन परिवारों को ६२०० रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की। वहीं लोगों द्वारा प्रशासन से आग्रह किया है कि आगजनी से प्रभावित परिवारों को उचित आर्थिक मुआवजा शीघ्र दिलवाया जाए।

Published On:
Jun, 11 2019 08:37 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।