40 करोड़ से पुनर्जीवित होगी पुण्य सलिला मंदाकिनी: कमलेश्वर

सतना. प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने शुक्रवार को मझगवां मंडी प्रांगण में आयोजित सम्मेलन में घोषणा करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार चित्रकूट के समग्र विकास को लेकर कटिबद्ध है। चित्रकूट विकास के मद्देनजर पुण्य सलिला और आस्था की केन्द्र मंदाकिनी नदी के पुनर्जीवन के लिए 40 करोड़ रुपए की कार्ययोजना बनाई जा रही है। इस प्रोजेक्ट से न केवल मंदाकिनी सदानीरा होगी बल्कि क्षेत्र के किसानों को सिंचाई लाभ प्राप्त होगा। इस दौरान महिला स्व सहायता समूहों को हितलाभ का वितरण किया। महिला स्व सहायता समूह सम्मेलन में मंत्री ने पंचायत भवन एवं तालाब निर्माण का भूमिपूजन व लोकार्पण भी किया। स्व सहायता समूहों को बताया कि प्रदेश सरकार आजीविका मिशन के तहत महिला स्वसहायता समूहों को रोजगार से जोड़ रही है। इस दौरान विधायक नीलांशु चतुर्वेदी, जिपं सीईओ ऋजु बाफना मौजूद रहीं।

स्व सहायता समूह संचालित करेंगे गौशाला

महिला स्वसहायता सम्मेलन में पंचायत मंत्री पटेल ने कहा कि प्रदेश में बनाई जा रही गौशालाओं का संचालन स्वसहायता समूहों से कराया जाएगा। इन समूहों को डीएमएफ से 50 हजार रुपए की सहायता दी जाएगी। इस राशि से स्वसहायता समूह गायों के गोबर एवं मूत्र से उत्पादित सामग्री को बाजार में बेचकर अपनी आय भी बढ़ा सकेंगे। सरकार यह भी योजना बना रही है कि कार्यालयों में लगने वाली सामग्री भी स्वसहायता समूहों से ही क्रय की जाए। इससे समूहों की आय बढ़ेगी और उन्हें आसान बाजार मिल सकेगा। प्रदेश की कांग्रेस सरकार प्रयासरत है कि प्रत्येक परिवार को रोजगार मिले तथा रोजगार से कम से कम एक लाख रुपए तक आय प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि 8 मार्च महिला दिवस पर महिला पंचायत का आयोजन किया जाएगा और यह ग्राम सभा में होगा।
मझगवां में आवासीय कॉलोनी की स्वीकृति
मंत्री ने कहा कि देखा जा रहा है कि यहां शासकीय अधिकारियों कर्मचारियों के लिए आवास की काफी समस्या है, जिससे उन्हें दूरदराज से यहां आना पड़ता है। उन्होंने कहा कि मझगवां में सरकारी अमले के लिए आवासीय कॉलोनी बनाई जाएगी। उन्होंने डीएमएफ मद से मझगवां में सड़क निर्माण कराने तथा कर्मचारियों के आवास निर्माण के लिए एक करोड़ रुपए देने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर विधायक नीलांशु चतुर्वेदी ने कहा, इस क्षेत्र का पूर्ण विकास नहीं हुआ है। क्षेत्र को विकास की मुख्यधारा से जोड़ा जाए। जनपद अध्यक्ष ओंकार सिंह ने जनपद स्तर की समस्याएं रखी। गायत्री स्वसहायता समूह की शकुन्तला ने उपस्थित महिलाओं को समूह से जुडऩे तथा आय बढ़ाने के संबंध में जानकारी दी।

इन कामों का शिलान्यास

कार्यक्रम में मंत्री ने पंचायत भवन अमिलिया (12.85 लाख), नवीन तालाब मलगौसा (14.98 लाख) का लोकार्पण किया। ग्राम पंचायत भवन पटनाखुर्द (14.48 लाख), महतैन (14.48 लाख), मिटटी तालाब निर्माण पटनाखुर्द (8.69 लाख) एवं ग्राम पंचायत पडऱी में मिटटी तालाब निर्माण (14.95 लाख) का शिलान्यास किया। 21 स्वसहायता समूहों की हितग्राहियों को 18.24 लाख के हितलाभ वितरित किए। इस दौरान दर्जन भर स्व सहायता समूहों को नगद साख सीमा तथा अन्य हितग्राहियों को मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण व युवा स्वरोजगार योजना के ऋण प्रदान किए गए। स्व सहायता समूहों के स्टालों का अवलोकन किया तथा उनका उत्साहवर्धन करने उनके उत्पाद भी खरीदे। इस दौरान एसडीएम एचके धुर्वे, ईई आरईएस अश्वनी जायसवाल सहित कांग्रेस पदाधिकारी अजीत सिंह पटेल सहित अन्य मौजूद रहे।
दुग्ध केन्द्र का निरीक्षण
मंत्री ने मझगवां भ्रमण के दौरान जनपद पंचायत परिसर में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा संचालित आजीविका दुग्ध शीत केन्द्र का निरीक्षण किया और इसे ग्रामीण स्वरोजगार के लिए बेहतर पहल बताते हुए जिपं सीईओ की सराहना की।

आवारा पशुओं से मिलेगी निजात

सतना दौरे में मंत्री ने नागौद की ग्राम पंचायत भैहाई में 27.72 लाख से निर्मित गौशाला का लोकार्पण किया। कहा, गौशालाओं के शुरू होने से किसानों को ऐरा पशुओं से निजात मिलेगी साथ ही पशु क्रूरता के मामलों में कमी आएगी। इन गौशालाओं में स्वसहायता समूहों को जोडा जा रहा है। गौवंश के गोबर एवं गौमूत्र से 15 तरह की सामग्री बनाई जाएगी। इस दौरान पूर्व विधायक यादवेन्द्र सिंह, गोबिन्द सिंह, नागेन्द्र मिश्रा, मृगेन्द्र सिंह, रामकिशोर कोल, जितेन्द्र सिंह, गुलाब सिंह, रणजीत सिंह, उपेन्द्र पटेल मौजूद रहे।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।