डोंगरी में देर रात पकड़ा मुरुम का अवैध खनन, जेसीबी सहित हाइवा जब्त

By: Ramashankar Sharma

Updated On:
12 Aug 2019, 11:52:52 PM IST

  • मेडिकल कॉलेज की जमीन पर हो रहे अवैध खनन पर कार्रवाई
    कलेक्टर के निर्देश पर राजस्व और खनिज महकमे की दबिश

सतना. डोंगरी स्थित मेडिकल कॉलेज की जमीन पर व्यापक पैमाने पर हो रहे अवैध खनन की जानकारी मिलते ही कलेक्टर सतेन्द्र सिंह ने छापामार कार्रवाई के निर्देश दिए। इस पर नजूल तहसीलदार शैलेंद्र बिहारी शर्मा के नेतृत्व में राजस्व और खनिज महकमे की संयुक्त टीम गठित कर रविवार की रात दबिश दी गई। मौके में एक जेसीबी और हाइवा अवैध खनन व परिवहन में लिप्त मिला। संबंधित वाहन जब्त कर लिए गए। साथ ही खनिज क्षेत्र का आकलन किया जा रहा है। इसके आधार पर संबंधितों के ऊपर पेनाल्टी तय कर प्रकरण कलेक्टर के समक्ष पेश किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि डोंगरी के अवैध खनन का खुलासा पत्रिका ने प्रमुखता से किया था।
बताया गया, कलेक्टर सतेन्द्र सिंह के निर्देश पर रात लगभग 2 बजे टीम ग्राम पुरैनिहा कृपालपुर स्थित मेडिकल कॉलेज की आराजी पर पहुंची। वहां पाया कि एक जेसीबी मशीन से मुरुम की खुदाई हो रही है। मुरुम हाइवा में भरा जा रहा था। मौके पर जब टीम पहुंची तो उन्होंने इनसे खनन संबंधित दस्तावेज तलब किए जो प्रस्तुत नहीं किए जा सके। इस पर यहां खनन कर रही जेसीबी मशीन क्रमांक एमपी 19जीए 4385 एवं हाइवा क्रमांक एमपी १9एचए 9199 को जब्त कर लिया।

कोलगवां थाने में खड़ा कराया वाहन

मेडिकल कॉलेज की इस जमीन पर महीनों से सुनियोजित तरीके से अवैध खनन को अंजाम दिया जा रहा है। कारोबार में कई मुरुम कारोबारी जुड़े बताए गए हैं। लेकिन कार्रवाई के दौरान जिनके वाहन जब्त किए गए उनमें जेसीबी के मालिक गोलू त्रिपाठी निवासी अमौंधाकला सतना तथा हाइवा के मालिक शुभम सिंह निवासी पेप्टेक सिटी सोहावल सतना हैं । दोनों वाहनों को जब्त कर कोलगवां थाना में खड़ा कराया गया है।
विद्युत पोल तोड़ दिए
डोंगरी में खनन कारोबारियों के हौसले कुछ इस कदर हैं कि विद्युत पोल भी गिरा दिए थे। इससे हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी सहित आसपास के कृषि पंपों की विद्युत सप्लाई बंद हो गई थी। यहां से प्रतिदिन 50 से ज्यादा डम्पर मुरुम का अवैध उत्खनन हो रहा था।

एक करोड़ से ऊपर की पेनाल्टी बन सकती है

खनिज महकमे ने बताया कि जिस तरीके से यहां अवैध खनन होना मिला है उसमें यहां खनन की जो नाप हो रही, उसमें काफी बड़ा इलाका सामने आ रहा है। अगर सब कुछ सही तरीके से नापा गया और प्रकरण सही प्रस्तुत किया गया तो यहां अवैध खनन पर एक करोड़ से ज्यादा की पेनाल्टी भी बन सकती है।
अवैध परिवहन पर उचेहरा-मैहर में कार्रवाई
अवैध रेत परिवहन को लेकर खनिज विभाग ने रविवार देररात सर्चिंग अभियान चलाया। उचेहरा व मैहर में आधा दर्जन वाहन पकड़े गए। उन्हे संबंधित थानों में खड़ा करा दिया गया। हालांकि, कार्रवाई को लेकर खनिज विभाग लगातार सवालों के घेरे में है। प्रतिदिन सैकड़ों की संख्या में ट्रक रेत का अवैध परिवहन करते हुए सतना की सीमा में प्रवेश करते हैं, लेकिन गाहे-बेगाहे कार्रवाई के अलावा कभी सतत कार्रवाई नहीं होती। जिले में पदस्थ खनिज निरीक्षकों की भूमिका को लेकर भी कई प्रकार के आरोप लगते रहे हैं। मैहर-उचेहरा में वाहन एमपी 19 एचए 2830 कमलकांत शुक्ला निवासी मैहर, एमपी 19 एचए 3964 कैलाश मिश्रा निवासी जैतवारा, एमपी 19 एचए7905 मसूरियादीन दुबे निवासी मैहर, एमपी 19 जीए 2952 इंद्रपाल कुशवाहा निवासी मैहर व एमपी 19 जीए 3885 इलियास निवासी मैहर के पकड़े गए हैं। कार्रवाई के बाद जनप्रतिनिधियों का एक धड़ा बचाव में उतर आया है।

Updated On:
12 Aug 2019, 11:52:52 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।