भीम आर्मी और कांग्रेस में हुई बड़ी डील, भाजपा और गठबंधन की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

By: Iftekhar Ahmed

Published On:
Apr, 10 2019 03:09 PM IST

    • सहारनपुर में भीम आर्मी देगी कांग्रेस का साथ, बदले में कांग्रेस वाराणसी में चेन्द्रशेखर का करेगी समर्थन
    • दलित वोटों को साधने के लिए भीम आर्मी के पीछे पड़ी कांग्रेस
    • दलित वोट बंटने से गठबंधन को लग सकता है सहारनपुर में झटका

सहारनपुर. लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण के लिए चुनाव प्रचार थम गया है। कल यानी 11 अप्रैल को मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोगकर करेंगे। इससे पहले राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशियों ने जीत के लिए सभी तरह के हथकंडे अपनाने शुरू कर दिए हैं। सहारनपुर में महागठबंधन और कांग्रेस की ओर से मुस्लिम उम्मीदवार उतारने की वजह से यहां मुस्लिम वोट बैंक बंटने की आशंका से कांग्रेस और गटबंधन दोनों के ही प्रत्याशियों के लिए परेशानी बढ़ती हुई दिख रही है। लिहाजा, इस नुकसान की भरपाई के लिए प्रत्याशियों ने दूसरे हथकंडे आपनाने शुरू कर दिए हैं। इसी सिलसिले में सहारनपुर से कांग्रेस प्रतेयाशी और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष इमरान मसूद ने भीम आर्मी को साधना शुरू कर दिया है। उन्होंने दावा किया है कि भीम आर्मी के नाताओं से हमारी बात हो गई है। इसके साथ ही राजनीतिक हलके में ऐसी खबर भी है कि भीम आर्मी के सहारनपुर में कांग्रेस के समर्थन करने पर इसके बदले भीम आर्मी के मूखिया चन्द्रशेखर के वाराणसी से चुनाव लड़ने की स्थिति में कांग्रेस वहां पर उनका समर्थन कर सकती है। गौरतलब है कि सहारनपुर से गठबंधन की ओर से हाजी फजलर्रहमान, कांग्रेस से इमरान मसूद और भाजपा से मौजूदा सांसद राघव लखनपाल शर्मा ताल ठोक रहे हैं।


पत्रिका संवाददाता ने जब दो दिन पहले उत्‍तर प्रदेश कांग्रेस उपाध्‍यक्ष इमरान मसूद से बात की थी तो उन्‍होंने कहा था, भीम आर्मी मेरे साथ है। चंद्रशेखर भी जल्‍दी आ जाएगा। इसके बाद सोमवार रात को भीम आर्मी के प्रदेश सचिव, प्रदेश उपाध्‍यक्ष और जिलाध्‍यक्ष समेत कई कार्यकर्ताओं ने इमरान मसूद के घर पर उनसे मुलाकात की थी। तभी से माना जा रहा था कि मंगलवार को होने वाले प्रियंका गांधी वाड्रा के रोड शो के दौरान भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर कांग्रेस उम्‍मीदवार इमरान मसूद के समर्थन का ऐलान करेंगे। हालांकि, इस दौरान वह प्रियंका के रोड शो से नदाराद रहे। दरअसल, सोमवार को सहारनपुर में कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा की जनसभा होनी थी। लेकिन मौसम बिगड़ने की वजह से राहुल गांधी के हेलीकॉप्‍टर को दिल्‍ली में उड़ने की इजाजत नहीं दी गई। इस वजह से उनकी सहारनपुर, शामली और बिजनौर की सभा को रद्द करना पड़ा। इसके बाद गंलवार को बिजनौर और सहारनपुर में रोडशो किया गया।

बनारस से किया चुनाव लड़ने का ऐलान

गौरतलब है कि भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर ने पहले गठबंधन के समर्थन का ऐलान किया था। उन्‍होंने बसपा प्रमुख मायावती को अपनी बुआ भी बताया था, लेकिन बसपा प्रमुख ने उनसे पल्ला झाड़ते हुए कहा था कि वह किसी की बूआ नहीं है। इसके साथ ही मायावती ने चन्द्रशेखर को भाजपा की बी टीम बताया था। इस बीच चंद्रशेखर ने बनारस से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने का ऐलान भी कर दिया है। अब अगर वह कांग्रेस को समर्थन देते हैं तो दलित वोटों के बंटवारे से गठबंधन को बड़ा झटका लग सकता है।

इमरान ने बुरे वक्त में दिया था चन्द्रशेखर का साथ
भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर को जब उत्तर प्रदेश सरकार ने रासूका के तहत गिरफ्तार कर जेल में बंद कर दिया था, तब इमरान मसूद ने हर मौके पर उनका साथ दिया था। उनके खिलाफ की गई कार्रवाई को इमरान ने तानाशाही बताकर निंदा की थी। वहीं, हाल ही में आचार संहिता लागू होने के वक्त दिल्ली में हुंकार रैली करने जाते वक्त जब उसे गिरफ्तार किया गया था और बाद में सेहत बिगड़ने पर अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तब इमरान मसूद के कहने पर ही प्रियंका गांधी उनसे मिलने के लिए मेरठ आई थी।

 

Published On:
Apr, 10 2019 03:09 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।