शिक्षकों को उनकी सहमति पर ही करें रिलीव: कियावत

By: Satish Likhariya

Updated On:
25 Aug 2019, 01:36:19 PM IST

  • जिन शिक्षकों की ऑनललाइन पोर्टल पर जानकारी गलत अपलोड हो गई है उनके ट्रांसफर निरस्त किए जाएंगे

सागर. लोक शिक्षण आयुक्त जयश्री कियावत द्वारा शनिवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग आयोजित की गई। जिसमें ट्रांसफर नीति पर चर्चा हुई । कियावत ने कहा है कि जिन शिक्षकों की ऑनललाइन पोर्टल पर जानकारी गलत अपलोड हो गई है उनके ट्रांसफर निरस्त किए जाएंगे । जानकारी के अनुसार प्रदेश में करीब डेढ़ हजार शिक्षक ऐसे हैं जिनकी जानकारी ही पोर्टल पर गलत फीड हो गई थी यह मामला पत्रिका ने शुक्रवार को उठाया था।
सूत्रों के अनुसार शनिवार को जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय ने 250 से ज्यादा शिक्षकों की काउंसिलिंग कर जानकारी पोर्टल पर ऑनलाइन फीड कर दी है। जिन शिक्षकों ने तबादले के लिए सहमति जताई है, उनके आदेश जल्द ही भोपाल से जारी होंगे। असहमति जताने वाले शिक्षकों के तबादले निरस्त कराने के प्रस्ताव भी भेजे जा रहे हैं। वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग में यह भी कहा गया है कि संभागीय संयुक्त संचालक और जिला शिक्षा अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि जो शिक्षक अभी रिलीव और ज्वॉइन नहीं हुए हैं उन्हें व्यक्तिगत रूचि लेते हुए पूर्ण कराएं। इसके अलावा ऐसे शिक्षकों को सख्ती से रिलीव न किया जाए जो अपना स्थानांतरण कतिपय कारणों से निरस्त कराना चाहते हैं।इस संबंध में सभी संकुल प्राचार्यों को तत्काल जानकारी भेज दी जाए। रिलीविंग एवं ज्वॉइनिंग के लिए 24 अगस्त आखिरी तारीख नहीं है। शिक्षक विहीन हो रही शालाओं में अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति के लिए पोर्टल पर रिक्तियां जल्द जारी की जाएंगी। इनमें प्राथमिकता के आधार पर
अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति की जाना है। इसके बाद संबंधित शालाओं से शिक्षकों को भार मुक्त किया जाएगा। जिन शिक्षकों ने जिले से बाहर अपने तबादले के लिए आवेदन किए हैं उनके तबादला आदेश निरस्त करने की कार्रवाई भी भोपाल स्तर से
की जाएगी।

Updated On:
25 Aug 2019, 01:36:19 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।