महिला जेल प्रहरी बोली प्रेम विवाह के बाद मुझे मिल रही धमकियां

By: Samved Jain

|

Published: 24 Aug 2019, 05:55 PM IST

Sagar, Sagar, Madhya Pradesh, India

सागर. प्रेम प्रसंग के बाद शादी करना महिला जेल प्रहरी के लिए बड़ी मुसीबत बन गया है। वह अपने पति के साथ तो खुश है, लेकिन बाहर के लोग उसे जीने न देंगे की धमकियां देकर जीना मुहाल किए हुए है। पुलिस विभाग से जुड़ी पीडि़त जेल प्रहरी को अपने विभाग का भी साथ नहीं मिल रहा है। अपराधी खुले में घूम रहे है, धमकियां दे रहे हैं, लेकिन पुलिस उन्हें पकड़ नहीं पा रही है। पीडि़त जेल प्रहरी ने एक बार फिर एसपी सागर को ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की मांग की है।

 

यहां से शुरू हुआ प्रेम प्रसंग में फसाद का मामला
सागर जेल में बतौर महिला प्रहरी काम करने वाली एक महिला को मुरैना के एक युवक से प्यार हो जाता है। वह उसके साथ ही काम करता है। दोनों का प्रेम प्रसंग बढ़कर शादी तक पहुंच जाता है। इसी बीच जून २०१९ में प्रेमी की तरफ से प्रेमिका को बताया जाता है कि उसके परिजनों ने बिना उसकी मर्जी के उसकी शादी पक्की कर दी है। जिस लड़की के साथ शादी पक्की की गई है, वह भी उसे नहीं जानती है। साथ ही कुछ करने के लिए कहा था।

 

प्रेमिका ने लगाया था लड़की के पिता को कॉल, बन गया विवाद
प्रेमी द्वारा जैसे-तैसे करके उसकी पक्की हुई शादी को तोडऩे का प्रयास शुरु किया गया। प्रेमिका ने लड़की के पिता को मुरैना कॉल करके अपने प्रेम प्रसंग की जानकारी दी। फोटो भी शेयर की। प्रेमिका के अनुसार इस दौरान उक्त लड़की के परिजनों ने उनसे अच्छे से बात की, लेकिन जब वह उनसे मिली तो उसके साथ बदतमीची की गई। गलत नियत से जीवन खराब करने और मारने की धमकी भी दी गई। छेडख़ानी भी हुई। इस पूरे घटनाक्रम के बाद मामले की शिकायत की गई थी। सिविल लाइन थाना पुलिस ने मुरैना के ३ लोगों पर धारा 354, 345, 354बी, 294, 506, 507बी, 34 आइपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया है। हालांकि, अब तक गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

 

प्रेमी के साथ की शादी, लगातार मिल रही मारने की धमकी
प्रेमिका ने बताया कि इस घटनाक्रम के बाद प्रेमी के साथ मैने शादी कर ली थी। हम दोनों साथ ही रह रहे है, लेकिन लगातार मुरैना के वह लोग, जिनका हम लोगों को कोई नाता नहीं है, लगातार जान से मारने की धमकियां दे रहे हैं। अपराध दर्ज होने के बाद अनेक बार खुले में घूम रहे अपराधियों को गिरफ्तार करने के आवेदन पुलिस के आला अधिकारियों को दिए जा चुके है, लेकिन गिरफ्तारी नहीं हो सकी। अपराधियों को मिल रहे पुलिस के संरक्षण से उनके हौसले बुलंद है। जो आए दिन उन्हें धमकियां देते आ रहे हैं। शनिवार को एक बार फिर पीडि़त जेल प्रहरी महिला ने एसपी को ज्ञापन सौंप कर अपनी व्यथा सुनाई है। साथ ही आरोपियों को जल्द गिरफ्तार की मांग की है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।