रीवा. भगवान शिव के प्रति लोगों की अस्था सावन के अंतिम सोमवार को टूट पड़ी। किला स्थित शिव मंदिर हो या फिर कोठी स्थित शिव मंदिरों दोनों भक्तों का सौलब टूट पड़ा। सुबह से लेकर शाम तक पूरे दिन सैकड़ों भक्तों की लंबी लाइन लगी रही। शिव को जल चढ़ाने के लिए हजारों भक्त लाइन में लगे रहे। बड़े, प्रोढ़ एवं युवा सभी शिव को जलाभिषेक करना चाहते हैं। चाहे उन्हें घंटो लाइन में लगा रहना पड़े। सावन का अंतिम सोमवार होने की वजह से जगह - जगह भण्डारे का आयोजन किया गया।

किला में कई जगह भण्डारे हुए तो कोठी मंदिर में भी अलग - अलग संगठनों ने भण्डारे का आयोजन किया। जिसमें प्रसाद लेने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। दोपहर से लेकर शाम तक भण्डारा चलता रहा। प्रसाद के रूप में कहीं पूड़ी,सब्जी तो कहीं कढ़ी चावल एवं मीठा खिलाया गया। जलाभिषेक करने के बाद तिलक लगाया अब तो सब एक ही रंग में दिख रहे हैं तो फिर एक सेल्फी भी हो जाए। सुबह से लेकर शाम तक यही सिलसिला चलता रहा। शहर में हर गली चौराहे पर भण्डारे का आयोजन किया गया। जिसमें शिल्पी प्लाजा के व्यापारियों ने संयुक्त रूप से भण्डारे का आयोजन किया। इसी प्रकार तरहटी, फोर्ट, सिरमौर चौराहा में भोले के भक्तों ने भण्डारे का आयोजन कर प्रसाद वितरण किया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।