पांच गांवों को जोडऩे वाली पक्की सड़क पर डाल दी मिट्टी, आवागमन बाधित

By: Anil Kumar

Published On:
Aug, 13 2019 05:08 PM IST

  • पांच गांवों को जोडऩे वाली पक्की सड़क पर डाल दी मिट्टी, आवागमन बाधित
    रायपुर कर्चुलियान के बंजारी-मोड़ से पकरा गांव जाने वाले मार्ग को कर दिया अवरूद्ध

रीवा/रायपुर कर्चुलियान. जनपद क्षेत्र के गुढ़ तहसील अंतर्गत पटवारी हल्का बंजारी में पचास साल पुरानी सड़क को कुछ लोगों ने मिट्टी, पत्थर और कटीले बबूल के डंठल रखकर आवागमन बाधित कर दिया है। जिससे आस-पास के गांवों को जोडऩे वाले मार्ग पर राहगीरों का चलना मुश्किल हो गया है। प्रभावित गांव के ग्रामीणों ने आला अफसरों सहित विभागीय अधिकारियों को इसकी सूचना दी है। इसके बावजूद जिम्मेदारों के सेहत पर फर्क कोई नहीं पड़ रहा है।

इस मार्ग पर दर्जनों गांव
जिले के रीवा-गुढ़ मार्ग पर स्थित बंजारी मोड़ से पकरा ग्राम पंचायत सहत सीतापुर की ओर जाने वाले इस मार्ग पर दर्जनों की संख्या में गांव हैं। लेकिन, मार्ग पर बंजारी मोड़ के आस-पास पांच गांव के लोगों का आना जाना है। यह मार्ग बंजारी, गेरूआर, बरहदी, दुबहा, गोरगांव और खैरा सहित अन्य कई गांवों को जोड़ता है। ग्रामीणों ने बताया कि पचास साल पुराना मार्ग है। पीडब्ल्यूडी विभाग अब तक दो बार डामरीकरण कर चुका है। पहला पार्ट वर्ष २०1३-14 और दूसरा पार्ट वर्ष २०17-18 में डामरीकरण किया गया है। इससे पहले पंचायत मद से मिट्टी एवं मुरुमीकरण कराया जा चुका है। इस सड़क के अवरोध होने पांच मुख्य गांवों के लोगों का आवागमन बाधित हो गया है। ग्रामीणों ने बताया कि पकरा गांव के हरिजन बस्ती के निकट पक्की सड़क पर गांव के ही कुछ लोगों ने पत्थर, मिट्टी और कटीले बबूल के पेड़ की टहनी काट कर रख दी गई है। जिससे करीब एक सप्ताह से आवागमन प्रभावित हो गया है।

कलेक्टर से भी कर चुके हैं शिकायत
ग्रामीणों ने मामले की शिकायत कलेक्टर से करने के साथ ही पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री कमलेश्वर पटेल से मिलकर आवेदन दिया है। इसके बावजूद मार्ग का आवगमन बहाल नहीं हो स का है। मामले की शिकायत यज्ञ नारायण साकेत राम जी साकेत, संगीता, अंकित, बृजेंद्र कुमार, शिव बालक साकेत, पुष्पेंद्र पटेल, शिव शरण आदि ने अफसरों से की है। इसके बावजूद पक्की सड़क से आवागमन चालू नहीं किया गया।

Published On:
Aug, 13 2019 05:08 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।