संसाधनों वाले निजी स्कूलों से आगे निकले कमियों वाले सरकारी स्कूल

By: Yggyadutt Parale

Updated On:
22 May 2019, 05:36:58 PM IST

  • संसाधनों वाले निजी स्कूलों से आगे निकले कमियों वाले सरकारी स्कूल

रतलाम। हाईस्कूल और हायर सेकंडरी का परीक्षा परिणाम आए एक सप्ताह होने को आया है। स्कूलों और विभाग में समीक्षाओं का दौर चल रहा है। रतलाम जिले में सरकारी और निजी स्कूलों के परीक्षा परिणामों की जहां तक बात है तो सरकारी स्कूलों ने परिणामों में निजी स्कूलों को काफी पीछे छोड़ दिया है। निजी स्कूलों में पूरे और पर्याप्त संसाधन, बेहतर पढ़ाई का दावा, शिक्षक - शिक्षिकाएं होने और सरकारी स्कूलों में स्टॉफ की कमी या अतिथियों के भरोसे चलने वाले स्कूलों के बावजूद बेहतर परिणामों से विभाग के अधिकारी भी उत्साहित नजर आ रहे हैं। प्रभारी जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) अमर कुमार वरधानी के अनुसार यदि निजी स्कूलों का भी प्रतिशत बढ़ जाता तो हम प्रदेश में और अच्छी स्थिति में होते।

निजी स्कूल औसत से भी नीचे पहुंचे
हाईस्कूल और हायर सेकंडरी में इस बार जिले का औसत परीक्षा परिणाम ७० से ऊपर ही रहा है। १०वीं में जहां जिले का औसत ७०.९० रहा है वहीं १२वीं में ७६.७५ दर्ज किया गया है। इस औसत से देखा जाए तो निजी स्कूलों का औसत परीक्षा परिणाम १०वीं में ६८ और १२वीं में ७१ फीसदी ही रहा है। इसके उलट सरकारी स्कूलों के औसत की बात करें तो १०वीं में ७४ और १२वीं में सरकारी स्कूलों का औसत ८२ फीसदी रहा है।

पर्याप्त स्टॉफ फिर भी कम परिणाम
एक तरफ जहां सरकारी स्कूलों ने कम स्टॉफ के बावजूद बेहतर परिणाम दिए हैं वहीं सरकारी में ही कुछ स्कूल ऐसे हैं जहां पर्याप्त स्टॉफ होने पर भी परिणाम ३० फीसदी से नीचे रहा है। इन स्कूलों में हायर सेकंडरी स्कूल पलसोड़ी, हाईस्कूल कनेरी और हाईस्कूल सागोद हैं। हायर सेकंडरी पलसोड़ी में न केवल पूर्ण प्राचार्य वरन यहां स्टॉफ भी पूरा है और कुछ ऐसी ही स्थिति सागोद हाईस्कूल में भी है। कनेरी में शिक्षकों की कमी की बात सामने आई है।

फैक्ट फाइल
सरकारी स्कूल

१२वीं कक्षा
कुल परीक्षार्थी बैठे परीक्षा में - ५१७१

उत्तीर्ण हुए विद्यार्थी - ४२०७
उत्तीर्ण प्रतिशत - ८२

-------
१०वीं कक्षा

कुल परीक्षार्थी बैठे परीक्षा में - ८०८२
उत्तीर्ण हुए विद्यार्थी - ५९०८

उत्तीर्ण प्रतिशत - ७४
---------

निजी स्कूल
१२वीं कक्षा

कुल परीक्षार्थी बैठे परीक्षा में - ४०२६
उत्तीर्ण हुए विद्यार्थी - २८३७

उत्तीर्ण का प्रतिशत - ७१
--------

१०वीं कक्षा
कुल परीक्षार्थी बैठे परीक्षा में - ५३०५

उत्तीर्ण हुए विद्यार्थी - ३५८२
उत्तीर्ण का प्रतिशत - ६८

-------------
अच्छा औसत होता जिले का

जिले के निजी स्कूलों का औसत परीक्षा परिणाम कमजोर होने से जिले का औसत परीक्षा परिणाम कम रहा है। यदि इनका परिणाम भी अच्छा होता तो निश्चित रूप से हम और बेहतर प्रदर्शन कर पाते। सरकारी स्कूलों ने जिले के औसत से काफी अच्छा प्रदर्शन किया है जिससे वरिष्ठ अधिकारी भी खुश है। आज हुई वीडियो कांफे्रंसिंग की समीक्षा में इस बात को भी लिया गया है।
अमर कुमार वरधानी, प्रभारी डीईओ, रतलाम

Updated On:
22 May 2019, 05:36:58 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।