झारखंड में बंद का मिलाजुला असर, सैकडों बंद समर्थक गिरफ्तार

Prateek Saini

Publish: Sep, 10 2018 05:16:00 PM (IST)

बंद के समर्थन में कांग्रेस, झाविमो, राजद, झामुमो और वाम दलों के कार्यकर्त्ता सड़क पर उतरे। इस दौरान सैकडों बंद समर्थकों को हिरासत में लेकर कैंप जेल भेज दिया...

(पत्रिका ब्यूरो,रांची): पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ कांग्रेस द्वारा आहूत भारत बंद का सोमवार को राजधानी रांची समेत झारखंड के विभिन्न जिलों में मिला-जुला असर देखने को मिला। बंद के दौरान एहतियातन निजी स्कूल और शिक्षण संस्थान बंद रहे, दुकान तथा व्यापारिक प्रतिष्ठान भी नहीं खुले, लंबी दूरी के वाहनों का परिचालन बाधित रहा और शहर में आम दिनों की अपेक्षा छोटे वाहन भी कम संख्या में चले।


बंद के समर्थन में कांग्रेस, झाविमो, राजद, झामुमो और वाम दलों के कार्यकर्त्ता सड़क पर उतरे। इस दौरान सैकडों बंद समर्थकों को हिरासत में लेकर कैंप जेल भेज दिया। विरोध प्रदर्शन कर विपक्षी दलों के कार्यकर्त्ताओं ने सिर मुंडवाकर, बैलगाड़ी और रिक्शा पर सिलेंडर व मोटरसाइकिल रखकर अलग-अलग स्थानों पर जोरदार प्रदर्शन किया। कुछ स्थानों पर ट्रेनों के परिचालन को भी बाधित करने और सड़कों पर टायर जलाकर आवागमन बाधित करने का प्रयास किया गया। बंद के दौरान विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए पुलिस-प्रशासन की ओर से सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए थे। पुलिस मुख्यालय से मिली जानकारी के अनुसार पूर्वाह्न 11 बजे तक राज्यभर के विभिन्न हिस्सों से 1879 बंद समर्थकों को गिरफ्तार किया गया है।


राजधानी रांची में कांग्रेस, झाविमो, झामुमो व राजद के कार्यकर्त्ताओं ने अलग-अलग हिस्से में सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया। शहर के अलावा अन्य ग्रामीण हिस्सों में भी बंद का खासा असर देखने को मिला। वहीं भारत बंद के विरोध में रांची में कुछ लोगों ने अपनी दुकानें खोल कर रखी और हाथ में पोस्टर लेकर बैठे थे कि वे मोदी के साथ है। राजद की प्रदेश अध्यक्ष अन्नपूर्णा देवी को बिरसा चौक के निकट से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। सिल्ली में मुरी में सड़कों पर बन्द समर्थक सड़कों पर उतरे। सिल्ली-बुंडू मोड़ पर कई दलों के नेता सड़क के बीचों-बीच बैठ कर बन्द का समर्थन किया।


पाकुड़ में बंद कराने सड़क पर उतरे कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम को गांधी चौक के निकट से सैकड़ों समथकों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया। जिले में प्रदर्शन कर रहे झामुमो और राजद को भी कार्यकर्ताओं को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जमशेदपुर में कांग्रेस कार्यकर्त्ता सड़क पर उतरे और बिष्टुपुर बाजार को बंद कराया। वहीं बंद समर्थकों ने एनएच-33 को जाम कर दिया। गिरिडीह में भी बंद समर्थकों ने सड़क पर उतर कर प्रदर्शन किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। रेलवे स्टेशन पर पुलिस के साथ बंद समर्थकों की झड़प भी हुई। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सरफराज अहमद समेत अन्य को गिरफ्तार किया गया। लातेहार में कांग्रेस नेता केएन त्रिपाठी को सैकड़ों बंद समर्थकों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया।

 

कोडरमा में भाकपा-माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य और विधायक राजकुमार यादव समेत अन्य विपक्षी दलों ने विरोध प्रदर्शन किया। जामताड़ा में कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी के नेतृत्व में बंद समर्थक सड़क सड़क पर उतरे और बंद को सफल बनाने की अपील की। बोकारो में कांग्रेस जिलाध्यक्ष मंजूर अंसारी के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्त्ताओं ने शहर के विभिन्न चौक-चौराहों में घूम-घूमकर दुकानों और वाहनों को बंद कराने का काम किया।

More Videos

Web Title "Effect of bharat bandh on10 september in jharkhand"