वीडियो बनाता देख जंगली हाथियों को आया गुस्सा, बच्चे को कुचला

By: Prateek Saini

Published On:
Sep, 10 2018 08:17 PM IST

  • रामगढ़ जिले के गोला प्रखंड के संग्रामपुर पूर्वी, मांडू प्रखंड के गोसी और चितरपुर प्रखंड के माइल क्षेत्रों में हाथी का विचरण हो रहा है...

(पत्रिका ब्यूरो,रांची): झारखंड में रामगढ़ में जंगली हाथियों के झुंड ने एक बालक को कुचल दिया। बालक की मृत्यु घटनास्थल पर ही हो गई। रामगढ़ जिले के चितरपुर प्रखंड अंतर्गत माइल गांव में कुर्मी टोला में गत 3 दिनों से हाथियों का झुंड विचरण कर रहा है।


हाथियों के झुंड बोकारो जिला के पहाड़ी इलाके से गुजरते हुए दामोदर नदी के समीप चितरपुर क्षेत्र में धान की फसलों को मुख्य भोजन करते हुए क्षेत्र में विचरण कर रहे हैं। सोमवार की सुबह हाथियों के झुंड को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ उमड़ी थी। उसी में 15 वर्षीय चितरंजन चौधरी मोबाइल से हाथियों की वीडियोग्राफी कर रहा था। अचानक जंगली हाथियों ने उसे खदेड़ा और पैरों से कुचल दिया।


सूचना मिलते ही वन विभाग अधिकारी व पुलिस पदाधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर चितरंजन चौधरी के शव को अपने कब्जे में ले लिया। वन विभाग के रेंज ऑफिसर जितेश्वर सिंह एवं चितरपुर प्रखण्ड के अंचल पदाधिकारी कुंवर सिह पहान ने मृतक के आश्रितों को तत्काल राहत के लिए 20000 रूपए दिए। वही वन प्रमंडल पदाधिकारी, विजय शंकर दुबे ने बताया कि मृतक के आश्रितों को वन विभाग के द्वारा चार लाख रुपए का मुआवजा दिया जाएगा। उन्होनें कहा कि ग्रामीणों से अनुरोध किया जा रहा है कि हाथियों के नजदीक न जाए। अगर हाथियों को उकसाया नही जाए तो वह किसी को नुकसान नही पहुंचाते है। उन्होंने कहा कि रामगढ़ जिले के गोला प्रखंड के संग्रामपुर पूर्वी, मांडू प्रखंड के गोसी और चितरपुर प्रखंड के माइल क्षेत्रों में हाथी का विचरण हो रहा है।

 

यह भी पढे: 2007 हैदराबाद दोहरा बम ब्लास्ट: कोर्ट ने 2 दोषियों को फांसी और 1 को उम्रकैद की सजा सुनाया


यह भी पढे: 2014 में जिन वजहों से गई थी कांग्रेस की सरकार, आज उन्हीं मुद्दों से घिरी है मोदी सरकार

 

यह भी पढे: बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले की सुनवाई कर रहे सीबीआई जज का रुका प्रमोशन, सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

Published On:
Sep, 10 2018 08:17 PM IST