24 में से 21 पदों पर अभाविप का परचम, केवल आमेट में एनएसयूआई का अध्यक्ष

By: Laxman Singh Rathore

Published On:
Sep, 12 2018 12:05 PM IST

  • छात्रसंघ चुनाव के नतीजे घोषित, परिषद ने नाथद्वारा, देवगढ़, भीम छीना, राजसमंद में सीट बरकरार, आमेट गंवाया
    जिले में एनएसयूआई के पास सिर्फ एक पद, देवगढ़ में दो पद वीएसएस के खाते में

राजसमंद. जिले में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने छात्रसंघ चुनाव में जोरदार प्रदर्शन करते हुए एनएसयूआई का सूपड़ा साफ कर दिया है। विधानसभा चुनावों से ठीक पहले आए इन नतीजों ने मातृ संगठन के नेताओं के लिए चिंता की लकीरें खींच दी है। छह कॉलेजों में से पांच में एबीवीपी ने अध्यक्ष सहित कुल 24 में से 21 पद अपनी झोली में डाल दिए हैं, वहीं एनएसयूआई ने पिछली बार के छह पदों में से पांच गंवा दिए। आमेट में एनएसयूआईने अध्यक्ष बनाने में कामयाबी हासिल की है। यही एकमात्र पद जिले में उसके पास है। परिषद को यह पद हासिल नहीं कर पाने की कसक भी रहेगी।

एनएसयूआई ने लगाया गड़बड़ी का आरोप, पुनर्गणना की मांग, नाथद्वारा में एनएसयूआई का सूपड़ा साफ
नाथद्वारा. छात्रसंघ चुनाव में एनएसयूआई को जबर्दस्त हार का सामना करना पड़ा है और उसका सूपड़ा साफ हो गया। जबकि, एबीवीपी ने यहां के दोनों महाविद्यालयों में इस बार परचम फहराया है। इस पर बिनानी महाविद्यालय में एनएसयूआई ने धरना देते हुए चुनाव में गड़बड़ी की आशंका जताते पुनर्गणना की मांग की। एसएमबी कॉलेज में अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के कुबेरसिंह झाला ने एनएसयूआई के अनिल पुरोहित को 452 मतों से हराया। उपाध्यक्ष पद पर भी परिषद के चूनसिंह चदाणा विजेता रहे, महासचिव पर परिषद के जयेश जोशी व संयुक्त सचिव पद पर भी परिषद के प्रत्याशी हिमांशु यादव ने जीत दर्ज की। इस तरह यहां एनएसयुआई को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा। इसी तरह राजकीय कन्या महाविद्यालय में भी चारों पदों पर एबीवीपी की जीत हुई। अध्यक्ष पद पर एबीवीपी की सरोज कुंवर सिसोदिया ने निर्दलीय पवित्रा कुंवर को 168 मतों से पराजित किया। यहां पर एनएसयुआई की प्रत्याशी नेहा यादव तीसरे स्थान पर रही। उपाध्यक्ष शीतल सनाढ्य, महासचिव अंजना कुंवर चुण्डावत एवं संयुक्त सचिव पद रवीना कुंवर चौहान विजेता रही।

भाजपा के गढ़ में विपक्ष ने बनाया अपना अध्यक्ष
आमेट. श्री हीरालाल देवपुरा राजकीय महाविद्यालय में अध्यक्ष पद पर एनएसयुआई के कुलदीप खटीक ने एबीवीपी के मनीष लक्ष्कार को हराया। मुख्य चुनाव निवार्चन अधिकारी डॉ. नरेन्द्र कुमार साद ने बताया कि उपाध्यक्ष पद पर एबीवीपी के दिनेश प्रजापत, महासचिव पद पर एबीवीपी के रोशन कुमावत विजयी हुए। संयुक्त सचिव पद पर एनएसयूआई की अनिता मेवाड़ा को व एबीवीपी की भूमि माहेश्वरी को बराबर 144 मत मिले। इस पर चुनाव अधिकारी द्वारा पर्ची डालने पर माहेश्वरी को विजयी रही। इसके बाद निर्वाचन अधिकारी डॉ. साद ने विजेताओं को पद की शपथ दिलाई। वहीं, विजयी प्रत्याशियों के केंद्र के बाहर आते ही उनके समर्थकों ने उन्हें कंधे पर उठा विजयी जुलूस निकालते हुए आतिशबाजी की। जुलूस कॉलेज से शुरू होकर नगर के प्रमुख मार्गों से गुजरा व भगवान जयसिंहश्याम मंदिर पर सम्पन्न हुआ। दूसरी ओर एनएसयूआई के समर्थन में कांग्रेस सेवादल संरक्षक दिलीपसिंह राव, पालिका में प्रतिपक्ष नेता प्रदीपसिंह राठौड़, मनीष मेवाड़ा, मनोज बुनकर, पुष्पेन्द्र जांगीड़, सोहैल शेख, प्रकाश खटीक, ललित गेलड़ा, गायड़सिंह, सुरेश टेलर मौजूद थे। एबीवीपी के समर्थन में पार्टी प्रवक्ता जयसिंह भाटी, आनंदसिंह शक्तावत, विक्रमसिंह, चुण्डावत, मांगीलाल पालीवाल, निर्मल पालीवाल मौजूद थे।

 

देवगढ़ में तीन वर्ष बाद एबीवीपी ने हथिया लिया अध्यक्ष पद
देवगढ़. राजकीय महाविद्यालय में 3 वर्ष बाद एबीवीपी ने अध्यक्ष पद पर बाजी मारने में सफलता प्राप्त की है। मुख्य चुनाव अधिकारी रामावतार मीणा ने बताया कि अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के चंदनसिंह गहलोत ने वीएसएस के प्रभुलाल गुर्जर को हराया। वहीं, उपाध्यक्ष पद पर वीएसएस के आशीष सालवी, महासचिव एबीवीपी की रेखा कुमारी एवं संयुक्त सचिव पद पर वीएसएस की ममता रेगर विजयी रही। एबीवीपी की जीत पर समर्थकों ने महाविद्यालय के बाहर नारेबाजी शुरू कर दी एवं नगर में विजेता प्रत्याशियों का मुख्य मार्गो से होते हुए विधायक कार्यालय तक जुलूस निकाला। इसमें भाजपा जिलाध्यक्ष भंवरलाल शर्मा, नगर अध्यक्ष अमरसिंह चौहान, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष लक्ष्मण गुर्जर, निलेश जोशी, भूपेन्द्रसिंह परिहार, हनुमान सिंह चुण्डावत, तरूण मेवाड़ा, चेतना छापरवाल, ममता मेवाड़ा शामिल थे।

 

भीम में चारों सीटों पर एबीवीपी हुई काबिज
भीम. कस्बे के सम्राट पृथ्वीराज चौहान राजकीय महाविद्यालय में चारों सीटंों पर एबीवीपी ने जीत दर्ज की। अध्यक्ष पद पर एबीवीपी के नेहपाल सिंह ने एनएसयूआई के सुरेन्द्रसिंह को हराया। उपाध्यक्ष पद पर रूपसिंह, महासचिव ओमप्रकाश सुथार एवं संयुक्त सचिव पद पर कैलाशसिंह चौहान विजेता रहे। इसके बाद मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. धर्र्मेन्द्र शर्मा ने विजेताओं को पद की शपथ दिलाई। एबीवीपी की जीत पर विधायक हरिसिंह रावत ने चारों नवनिर्वाचित छात्रसंध पदाधिकारियों को शुभकामनाएं दी। इस दौरान एबीवीपी के नगर अध्यक्ष ललित टेलर, भाजपा मण्डल अध्यक्ष राजेन्द्रसिंह, कूकड़ा सरपंच भैरूसिंह, लसाडिय़ा सरपंच खुमानसिंह, प्रवीणसिंह, मदनसिंह के साथ कस्बे में विजयी जुलूस निकाला गया।

Published On:
Sep, 12 2018 12:05 PM IST