रुंधे गले से हैड कांस्टेबल को दी अंतिम विदाई, राजकीय सम्मान से सुपूर्द ए खाक

By: Laxman Singh Rathore

Published On:
Jul, 14 2019 10:10 PM IST

  • एएसपी, डीएसपी ने दिया कंधा, अर्पित किए पुष्प

लक्ष्मणसिंह राठौड़/ एम सिंघानिया @ भीम (राजसमंद)

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भीम के मुर्दाघर में पोस्टमार्टम के बाद रविवार सुबह हैड कांस्टेबल की पार्थिव देह जब ताबूत में बंद होकर तिरंगे में लिपटकर बाहर आई, तो वहां खड़े हर शख्स की आंखे नम हो गई और साथी जवानों ने भी रुंधे गले से कंधा देकर अंतिम विदाई दी। एएसपी राजेश गुप्ता, भीम डीएसपी राजेंद्रसिंह राठौड़ भी कंधा देकर हैड कांस्टेबल की पार्थिव देह भीम पुलिस थाने तक ले गए, जहां पुलिस द्वारा गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। फिर पुलिस अधिकारियों ने पुष्प चक्र व फूल अर्पित कर श्रद्धाजंलि अर्पित की।
पुलिस के अनुसार भीम अस्पताल के मुर्दाघर में हैड कांस्टेबल अब्दुल गनी के शव का पोस्टमार्टम शुरू हुआ। पैतृक गांव भीलवाड़ा जिले में जहाजपुर से मृतक के बड़े भाई अब्दुल गफ्फार व अन्य परिजन पहुंचे। फिर हैड कांस्टेबल की पार्थिव देह को पुलिस अधिकारी कंधे पर उठाकर पुलिस थाने में ले गए, जहां पुलिस के जवानों ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद पार्थिव देह को फुलों से सजी पुलिस की ट्रक में रखी गई। इस तरह गमगीन माहौल में जवान को अंतिम विदाई दी गई। इस दौरान एसपी भुवन भूषण यादव, एएसपी राजेश गुप्ता, डीएसपी राजेन्द्रसिंह राठौड़, राजसमंद डीएसपी राजेंद्रसिंह राव, कुंभलगढ़ डीएसपी नरपतसिंह, सीआई लाभूराम विश्नोई सहित कई पुलिस अधिकारी थे।

आईजी ने पहुंची भीम, ली जानकारी
आईजी रेंज उदयपुर विनीता ठाकुर रविवार दोपहर भीम थाने पर पहुंची, जहां एसपी, एएसपी राजेश गुप्ता से घटना की जानकारी ली। हैड कांस्टेबल की हत्या के बाद पुलिस द्वारा की जांच व कार्रवाई के बारे में आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उसके बाद वे राजसमंद पहुंची, जहां कुछ देर विश्राम के बाद मीडिया से भी मुखातिब हुई।


भीलवाड़ा में सुपूर्द ए खाक
हैड कांस्टेबल अब्दुल गनी की पार्थिव देह को भीम से भीलवाड़ा के जहाजपुर ले जाया गया। राजकीय सम्मान से उनकी पार्थिव देह को सुपूर्द ए खाक कर दिया गया। उनकी अंतिम यात्रा में पूर्व मंत्री डा. लक्ष्मणसिंह रावत, ब्लाक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रभुदयाल नागर सहित कई

जनप्रतिनिधि व पुलिस जवान शामिल हुए।
नशे में थे हत्या के आरोपी
हैड कांस्टेबल की हत्या करने वाले कुछ आरोपी नशे के आदी थे। लोहे के पाइप से हमला कर हत्या करने वाले आरोपियों में नोगेश्वरसिंह, लक्ष्मणसिंह, मुकेशसिंह, राजूसिंह, मिठूसिंह आदि शामिल है।

आईजी-डीएसपी को सौंपे ज्ञापन
मुस्लिम महासभा एवं कांग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के पदाधिकारियों व समाजजनों ने आईजी विनीता ठाकुर व उपखंड अधिकारी सुमन सोनल को ज्ञापन सौंपकर हैड कांसटेबल को शहीद का दर्जा दिलाने, एक करोड़ की सहायता राशि व परिवार के सदस्य को सरकारी नौकरी दिलाने की मांग की गई। इस दौरान मुस्लिम महासभा राष्ट्रीय सहसचिव जाफर खान फौजदार, जिला संगठन मंत्री हैदर हुसैन, देवगढ़ महासभा ब्लॉक उपाध्यक्ष आशिक शाह, मीडिया प्रभारी सरफराज अहमद, लाल मोहम्मद, इरफान छीपा, अल्पसंख्यक विभाग कांग्रेस जिलाध्यक्ष शराफत हुसैन फौजदार, अल्पसंख्यक विभाग उदयपुर डिवीजन उपाध्यक्ष अख्तर खान, मुबारिक अजनबी, ईकबाल छीपा, जाकिर भाई आदि थे।

विधायक- संगठनों ने जताई संवेदना
हैड कांस्टेबल की हत्या पर भीम विधायक सुदर्शन सिंह रावत ने संवेदना जताते हुए पुलिस को जल्द जांच कर आरोपियों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए, ताकि इस तरह की पुनरावृत्ति न हो। मजदूर किसान शक्ति संगठन की देवडूंगरी में हुई बैठक में हैड कांस्टेबल को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। एमकेएसएस प्रमुख अरुणा रॉय, निखिल डे, शंकरसिंह, लालसिंह, बालूलाल, नारायणसिंह, लक्ष्मी, कालूराम, रुक्मणी बाई आदि थे।

Published On:
Jul, 14 2019 10:10 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।