बच्चों के जीवन निर्माण में माता-पिता की भूमिका महत्वपूर्ण, उनके ऋण से कोई भी कभी भी मुक्त नही हो सकता

बजरंगपुर स्कूल में मना मातृ-पितृ पूजन दिवस

राजनांदगांव / चिचोला. शासकीय प्राथमिक व उच्च प्राथमिक शाला बजरंगपुर में 14 फरवरी मातृ-पितृ पूजन दिवस मनाया गया। सर्वप्रथम मां सरस्वती के तैलचित्र पर माल्यार्पण करते हुए पुष्प गुच्छ, प्रसाद अर्पित कर पूजन वंदन की गई। समारोह में उपस्थित पालकों का शाला के बच्चों द्वारा अबीर-गुलाल, पुष्प गुच्छ अर्पित करते हुए पूजा किए। इस अवसर पर पुलवामा के हमारे वीर शहीदों को श्रद्धांजलि देते हुए याद किए गए।

अपने से बड़ों का करें सदा सम्मान
कार्यक्रम में प्रधानपाठक हृदयराम यादव, प्रभारी प्रधानपाठक हेमलाल सहारे, कांति साहू ने संबोधित करते हुए बच्चों को सदा माता-पिता, गुरुजनों, अपने से बड़ों का सम्मान करने की बात कही। माता-पिता का बच्चों के जीवन निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका होते हैं जिससे उनके ऋण से कोई भी कभी भी मुक्त नही हो सकता। माताओं ने भी अपने विचारों से बच्चों को अवगत कराया। कार्यक्रम में हुमनसिह पिस्दा, गजेंद्र चौधरी, धनीराम कुंजाम, दयाराम साहू, चंद्रिका साहू, रूपकुंवर साहू, चमारिन चंद्रवंशी, सरोज चंद्रवंशी, सोनबती चंदवंशी, गंगा चंद्रवंशी, ललती खुरश्याम, पुष्पा साहू, गौतर बाई, उमठीबाई सहित छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।

विद्यार्थियों को दी विधिक जानकारी
डोंगरगढ़. जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं तालुका विधिक सेवा समिति डोंगरगढ़ के अध्यक्ष विभा पांडेय के मार्गदर्शन में विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन ग्राम ढारा के हायर सेकेंडरी स्कूल में किया गया। स्कूल के छात्र- छात्राओं को नालसा के योजना बाल विवाह, बाल तस्करी, कानूनी जानकारी से अवगत कराते हुए कहा कि बाल विवाह करना कानूनी अपराध है। वहीं पुलवामा हमले में हुए वीर शहीद जवान को याद करते हुए सीआरपीएफ के 40 शहीद जवानों को नमन करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। इस दौरान शिक्षकों सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं उपस्थित रहे।

Nakul Sinha Desk
और पढ़े
Web Title: The role of parents in building the life of children is important, no
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।