नगर की सड़कों के गड्ढों पर लगाया जा रहा गिट्टी के डस्ट का लेप

By: Nakul Ram Sinha

Published On:
Aug, 14 2019 05:08 AM IST

  • नेताओं ने नहीं देखा, नगर की सड़कों का बुरा हाल

राजनांदगांव / डोंगरगढ़. आगामी गुरूवार को स्वतंत्रता दिवस, रक्षाबंधन व 25 अगस्त को होने वाले बड़े पर्वो पर नगरपालिका प्रशासन द्वारा भ्रष्टाचार के गड्ढों पर गिट्टी की डस्ट डालकर सड़क का रूप देने में लगे है। सड़कों पर डाली जा रहे डस्ट वाहनों की आवाजाही से बिखरने लगे हैं। वहीं बारिश होने से यह डस्ट पानी के बहाव में बाहर आ जाएगी तथा गड्ढे फिर से अपने पुराने रूप में आ जाएंगे।

नगर में सत्ता पार्टी का होता रहा विरोध
गौरतलब हो कि पिछले लंबे समय से नगर की बदहाल सड़कें और नेताओं के जुमलेबाजी वाले बयानों से नगर की जनता उब गई है। जहां 15 वर्ष पूर्व भाजपा कार्यकर्ता कांग्रेस के विरोध में धरना प्रदर्शन से लेकर सड़कों के गड्ढों में धान का थरहा व बेशरम पौधे लगाकर विरोध कर रहे थे तथा सत्ता परिवर्तन के बाद कांग्रेस भी वही करते रहे। जहां 15 वर्ष के वनवास के बाद कांग्रेस के छोटे से बड़े नेता तथा जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ता नगर की सड़कों की दयनीय स्थिति पर लगातार विरोध प्रदर्शन करते रहे। जहां छ:माह पूर्व कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद भी दोनों पार्टियों के नेता व कार्यकर्ता एकदूसरे पर आरोप प्रत्यारोप लगाते रहे। साथ ही लगभग 25-30 वर्ष के कार्यकाल में मंत्री व उंचे ओहदे के नेता भी बयानबाजी करते रह गए और सड़कों की स्थिति से रूबरू हुए किंतु इन नेताओ की झुठी घोषणाओ से नगर की जनता भलीभांति जान गई है। जहां ये नेता चुनाव आते ही अपने भाषणो में नगर के विकास की झूठे आश्वासन देकर वोट बटोरते रहे और चुनाव जीतते ही नेताओं ने इस ओर मुड़कर नहीं देखा।

नेता बदल गए किंतु नहीं बदली सड़क की दुर्दशा
नगर की जनता बड़ी उम्मीदों से नेता बदल बदलकर देख चुकी किंतु सड़कों की स्थिति आज भी बद से बदतर ही है। जबकि नगर से अनेक तुर्रम खान नेता भी चुने गए किंतु चुनाव जीतते ही ये तुर्रमखान भी अपने एसी गाडिय़ों में इन सड़कों पर दौड़ रहे है। इन्हे एसी गाड़ी में सड़कों की स्थिति का एहसास नहीं होता और नगर की सड़कें गोलबाजार से लेकर जैन मंदिर, बुधवारीपारा, रेल्वे चौक तथा खंडुपारा जयस्तंभ से लेकर भगतसिंग चौक, महावीरपारा तथा कचहरी चौक, पुराना बसस्टेंड तक नगर की ऐसी बदहाल सड़के है जहां मात्र गड्ढे ही गड्ढे लोगों को मिलते है। वहीं बरसात में इन सड़कों से गुजरना और भी मुश्किल हो जाता है। नगर की इन सड़कों को लेकर अनेकों बार नपा कार्यालय, तहसील कार्यालय तथा विधायकों के घेराव भी होते आए है किंतु इन जुमलेबाज नेताओ से कोरे आश्वासन के सिवाय जनता को और कुछ नहीं मिला।

Published On:
Aug, 14 2019 05:08 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।