सरकार की प्लॉनिंग नहीं इसलिए पिछड़े प्रदेश के 18 कलेक्टर्स

By: Rajesh Kumar Vishwakarma

Updated On:
12 Aug 2019, 05:43:03 PM IST

  • -प्रेस वार्ता में सामने आए जिले से जुड़े कई मुद्दे, भोपाल और देवास रोड की खामियों को स्वीकारा

ब्यावरा. छह माह पहले (25 फरवरी 2019 को) जिस जिले को बेहतर प्रबंधक, जल संरक्षण के लिए देश में प्रथम पुरुस्कार मिलता है, वह अब पिछड़़े 18 जिलों में शामिल हो गया, इसमें कहीं न कहीं कलेक्टर के साथ ही शासन स्तर की भी चूक है। सरकार बेहतर प्लॉनिंग नहीं कर पाई, कलेक्टर्स से काम नहीं करवा पाई इसिलिए वह जिला पिछड़ गया जहां कुंडालिया, मोहनपुरा डेम जैसी बड़ी परियोजनाएं शामिल हैं।


प्रदेश स्तर पर पिछड़े राजगढ़ जिले को लेकर ये बातें सांसद रोड़मल नागर rodmal nagar ने सोमवार को प्रेस-वार्ता के दौरान कही। कश्मीर से धारा-370 और 35-ए हटाए जाने को लेकर मीडिया से रूबरू होने आए सांसद ने विभिन्न मुद्दों पर बातें की। उन्होंने उक्त धारा के हटाए जाने के कश्मिीरियों के लिए काफी फायदेमंद बताया और उनके हक की लड़ाई माना।

 

उन्होंने नदियों को पुनर्जीवित करने में फिसड्डी रहे राजगढ़ के लिए प्रदेश सरकार को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि हो सकता है वे किसी अन्य काम में लग गए हों, इससे महत्वपूर्ण काम उनके पास आ गया हो इसलिए केल्कटरों की ओर ध्यान नहीं दे पाए। उन्होंने आगामी पांच साल में जिले के लिए और बेहतर काम करने का आश्वासन दिया।

 

उद्योगों के क्षेत्र में भी कुछ बेहतर करने का भरोसा दिलाया

मेडिकल कॉलेज के साथ ही उद्योगों के क्षेत्र में भी कुछ बेहतर करने का भरोसा दिलाया। इस दौरान उनके साथ भाजपा जिलाध्यक्ष दीपक शर्मा, पूर्व राज्यमंत्री बद्रीलाल यादव, पूर्व विधायक नारायणसिंह पंवार, जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि यशवंत गुर्जर, नपाध्यक्ष अखिलेश जोशी और जिला मीडिया प्रभारी रवि बड़ोने सहित अन्य मौजूद रहे। प्रेस वार्ता से पहले सांसद ने सभी विस्तारकों से चर्चा भी की। उन्होंने 20 हजार सदस्य बनाने का लक्ष्य दिया।

 

भोपाल और देवास रोड की खामी को स्वीकारा
सीसी युक्त ईपीसी मोड में बने देवास-ब्यावरा फोरलेन और भोपाल-ब्यावरा रोड की खामी को भी सांसद ने स्वीकारा। उन्होंने कहा कि सीसी रोड पर न क्वालिटी ढंक की मिली न ही सीमेंट टिक पाई है। इससे पूरा नुकसान वाहनों को हो रहा है, इसी के चलते सरकार ने निर्णय लिया है कि अब नये रोड डामरयुक्त होंगे। इसके अलावा कहीं डामर तो कहीं सीसी से बने भोपाल-ब्यावरा रोड को लेकर भी उन्होंने कहा कि इसमें भी खामी है, जिसे दुरुस्त करवाने हाईवे अथोरिटी को लिखेंगे।


बेहतर करना हमारी प्राथमिकता रहेगी
जिले के लिए कितना हम बेहतर कर पाएं यह हमारी कोशिश रहेगी। पूरा फोकस विकास कार्यों पर रहेगा। मेडिकल कॉलेज के साथ ही ओद्योगिक क्षेत्र में कुछ करेंगे, ताकि यह जिले के लिए रोल मॉडल बन सके।
-रोड़मल नागर, सांसद, राजगढ़

Updated On:
12 Aug 2019, 05:43:03 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।