पूर्व मंत्री ने अपनी पार्टी पर लगाया आरोप, बोले- भाजपा ने किसानों के पैसों से मुफ्त स्मार्ट फोन बांटा, और..

By: Chandu Nirmalkar

Published On:
Jan, 19 2019 07:50 PM IST

  • पूर्व मंत्री ने अपनी पार्टी पर लगाया आरोप, बोले- भाजपा ने किसानों के पैसों से मुफ्त स्मार्ट फोन बांटा, और..

रायपुर. विधानसभा चुनाव में करारी हार के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में अंतर्कलह बढ़ते जा रहा है। पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के समर्थकों के बाद राज्य वित्त आयोग के पूर्व अध्यक्ष चंद्रशेखर साहू और पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष देवजीभाई पटेल ने भी अपनी पार्टी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। सोशल मीडिया पर भी जमकर भड़ास निकाली जा रही है। ऐसे में लोकसभा चुनाव में भी भाजपा को नुकसान उठाना पड़ सकता है।

वित्त आयोग के पूर्व अध्यक्ष चंद्रशेखर साहू ने पार्टी पर किसानों की अनदेखी करने और किसानों के पैसों से मुफ्त स्मार्ट मोबाइल फोन बांटने का बड़ा आरोप लगाया है। पाठ्यपुस्तक निगम के पूर्व अध्यक्ष देवजीभाई पटेल ने आरोप लगाया कि 15 साल तक कार्यकर्ताओं की पूछपरख नहीं हुई है। मोबाइल और साइकिल वितरण जैसी योजनाओं का कोई फायदा नहीं हुआ है। भाजपा को किसानों से माफी मांगनी चाहिए।

 

रमन बोले- अब खुल रहे ज्ञान चक्षु

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पार्टी नेताओं के आरोप पर कहा कि हार के बाद अब लोगों के ज्ञान चक्षु खुलने लगे हैं।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर भाजपा पर साधा निशाना

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा में मची अंतर्कलह को लेकर बड़ा निशाना साधा है। मुख्यमंत्री बघेल ने ट्वीट किया कि जब जीत का श्रेय सेनापति को, तो हार का ठिकरा कार्यकर्ताओं पर क्यों? माफ कीजिएगा, ये आपका कोई आंतरिक मामला नहीं रहा, क्योंकि किसी भी पार्टी के कार्यकर्ताओं के अपमान का मतलब है लोकतंत्र पर सीधा प्रहार करना। और जब लोकतंत्र खतरे में हो, तो हम तटस्थ कैसे रह सकते हैं?

भाजपा बोली- पहले अपने कार्यकर्ताओं की फिक्र करें सीएम

 

मुख्यमंत्री के ट्वीट पर पलटवार करते हुए विधायक व भाजपा प्रवक्ता शिवरतन शर्मा ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं के मान-अपमान की चिंता का प्रपंच रचने के बजाय भूपेश बघेल पहले अपने कार्यकर्ताओं व विधायकों के मान-सम्मान की फिक्र कर लें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अपने वरिष्ठ व अनुभवी विधायकों को लोकसभा चुनाव लड़ाकर किनारे लगाने की रणनीति बना रहे हैं और भाजपा के आंतरिक लोकतंत्र को लेकर प्रलाप कर रहे हैं। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि एक माह के सत्ताकाल में ही मुख्यमंत्री जिस दंभपूर्ण राजनीतिक आचरण के प्रतीक बनते नजर आ रहे हैं, वह लोकतंत्र के लिए संकट, चिंता और अपमान का परिचायक है।

भाजपा में इस्तीफे का दौर शुरू

भाजपा में हार के बाद उठा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। भाजपा प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य शिवनारायण द्विवेदी ने शनिवार को पार्टी की प्राथमिकता सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने प्रदेशाध्यक्ष को भेजे इस्तीफे में कहा है कि भाजपा प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बन गई है। प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में उन्हें बुलाया भी नहीं गया। हारे हुए नेताओं को लोकसभा चुनाव के लिए महत्त्वपूर्ण जिम्मेदारी देने से भी कार्यकर्ताओं का मनोबल गिर गया है।

Published On:
Jan, 19 2019 07:50 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।