नए साल में कार खरीदना पड़ेगा महंगा, जानें कौन—कौनसी कंपनियां बढ़ा रही है कीमतें

नए साल में गाड़ी खरीदना आपके के लिए घाटे का सौदा साबित हो सकता है। देश की प्रमुख वाहन कंपनियों ने गुरुवार को कहा कि वे अपने वाहनों की कीमतों में 2018 की जनवरी से वृद्धि करेंगे। कारों के दाम बढ़ाने वाली कंपनियों में महिंद्रा एंड महिंद्रा, फॉक्सवेगन इंडिया, मारुति सुजुकी इंडिया आदि शामिल है।

महिंद्रा एंड महिंद्रा
एसयूवी निर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा (एमएंडएम) ने कहा कि उसने अपने यात्री और वाणिज्यिक वाहनों की कीमतों में 3 फीसदी तक की बढ़ोतरी की योजना बनाई है। कंपनी के मुताबिक, बढ़ी हुई कीमतें 2018 के जनवरी से लागू होगी। एमएंडएम के वाहन क्षेत्र के अध्यक्ष राजन वाधेरा ने कहा, "हमने लागत में वृद्धि के बावजूद कीमतों में वृद्धि को लंबे समय से रोक रखा था। लेकिन विभिन्न वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी को देखते हुए हमें कीमतों में वृद्धि करनी होगी।

फॉक्सवैगन इंडिया
एक अन्य वाहन निर्माता फॉक्सवैगन इंडिया ने भी 2018 के जनवरी से अपने वाहनों की कीमतों में 20,000 रुपये तक की बढ़ोतरी की घोषणा की। फॉक्सवैगन के यात्री कार के निदेशक स्टेफेन नाप ने कहा, कई बाहरी आर्थिक कारकों के साथ-साथ वैश्विक स्तर पर विभिन्न वस्तुओं की कीमतों में वृद्धि और स्थानीय इनपुट लागत में उतार-चढ़ाव के कारण कीमतों में वृद्धि की जा रही है, जो उद्योग के प्रचलन के मुताबिक है।

मारुति सुजुकी इंडिया
बुधवार को प्रमुख वाहन निर्माता मारुति सुजुकी इंडिया ने कहा कि वह इनपुट लागत में बढ़ोतरी के कारण अपने सभी वाहनों की कीमतों में जनवरी से दो फीसदी तक की बढ़ोतरी करेगी। कीमतों में वृद्धि की बड़ी वजह कार बनाने की लागत में हो रही बढ़ोतरी है। कंपनी के प्रवक्ता ने कहा है कि कार तैयार करने में जिन कमोडिटीज का इस्तेमाल होता है उनकी कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है, जिसकी वजह से यह कदम उठाया जा रहा हे। कारों में होने वाली वृद्धि जनवरी 2018 से लागू होगी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।