औपचारिक भूमिका तक सीमित नहीं रहेंगे उप-राष्ट्रपति नायडू

prashant jha

Publish: Sep, 14 2017 12:10:16 (IST)

Political

उप राष्ट्रपति के लिए परंपरा में चले आ रहे ताम-झाम से नायडू बेहद परेशान हैं।

मुकेश केजरीवाल

नई दिल्ली: नए उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने साफ कर दिया है कि वे इस पद पर रहते हुए सिर्फ औपचारिक भूमिका तक सीमित रहने की बजाय व्यापक जनहित के मुद्दों पर खुल कर भागीदारी करेंगे। सबसे पहले वे प्रधानमंत्रनरेंद्र मोदी की ओर से शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान के साथ जुड़ रहे हैं। ऐसा करते हुए वे अपने पद की सीमाओं का पूरा ध्यान रखेंगे और इसे किसी तरह की राजनीति के लपेट में नहीं आने देंगे।

सेवा दिवस पर श्रमदान को हरी झंडी

नायडू स्वच्छ भारत अभियान के तीन साल पूरे होने के मौके पर अगले रविवार को 'सेवा दिवस' कार्यक्रम की शुरुआत करेंगे। कर्नाटक के बीदर में वे राष्ट्रीय स्तर पर श्रमदान कार्यक्रम को हरी झंडी दिखाएंगे। इसी दिन दूरदर्शन 'टॉयलेट- एक प्रेम कथा' फिल्म का प्रीमियर भी करेगा। इसी तरह राज्य सभा की कार्यवाही को बेहतर तरीके से चलाने के लिए वे सभी दलों के सदन के नेताओं से मिल रहे हैं। साथ ही नायडू सदन की कार्यवाही को बेहतर तरीके से चलाने के उपायों पर भी विचार करेंगे।

प्रोटोकॉल घटाने पर जोर
उप राष्ट्रपति के लिए परंपरा में चले आ रहे ताम-झाम से नायडू बेहद परेशान हैं। उन्होंने अपने साथ दौरों पर जाने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों और डॉक्टरों आदि की संख्या को तुरंत कम करने को कहा है। इसी तरह चौबीसों घंटे सिर्फ उनके लिए उपलब्ध रहने वाले डॉक्टरों के पैनल को भी छोटा करने और दूसरे कामों में लगाने की सलाह दी है। विभिन्न राज्यों के दौरे के दौरान लगाए जाने वाले रूट को ले कर उन्होंने खास तौर पर यह ध्यान रखने को कहा है कि आम लोगों को दिक्कत नहीं हो।

घटेगा चैनल का खर्च
उप राष्ट्रपति ने राज्य सभा की ओर से चलाए जाने वाले चैनल की विस्तृत समीक्षा शुरू करवा दी है। राज्य सभा चैनल का खर्च लोकसभा चैनल के मुकाबले बहुत अधिक है। इसकी एक वजह तो इसकी ओर से करेंट अफेयर्स को कवर किया जाना है। लेकिन इसे कम करने के लिए कई तरीके अपनाए जाएंगे। अभी उप राष्ट्रपति के हर दौरे में चैनल की एक बड़ी टीम उनके साथ जाती है। इस समीक्षा का मकसद किसी की बलि लेना नहीं, बल्कि आगे इसे बेहतर करना है।

Web Title "Vice President Naidu wants cuts in spending"