मिशन 2019 के लिए राहुल गांधी करेंगे ताबड़तोड़ चुनाव प्रचार, यूपी में अगले महीने होंगी 10 रैलियां

By: Kapil Tiwari

Updated On:
11 Jan 2019, 09:42:03 PM IST

  • 2019 का लोकसभा चुनाव अगर फतह करना है तो उत्तर प्रदेश उसके लिए सबसे महत्वपूर्ण राज्य है।

नई दिल्ली। 2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस और बीजेपी ने अभी से रणनीति बनाना शुरू कर दिया है। जहां एक तरफ शुक्रवार को दिल्ली में बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक की शुरुआत हुई तो वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस पार्टी की तरफ से ये ऐलान किया गया कि राहुल गांधी अगले महीने उत्तर प्रदेश में 10 रैलियां करेंगे। राहुल गांधी फरवरी के महीने में हर दूसरे-तीसरे दिन उत्तर प्रदेश में होंगे और 10 जनसभाओं को संबोधित करेंगे।


- जाहिर सी बात है कि 2019 का लोकसभा चुनाव अगर फतह करना है तो उत्तर प्रदेश उसके लिए सबसे महत्वपूर्ण राज्य है। बीजेपी हो या कांग्रेस दोनों की नजर उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों पर है।

- इसी को ध्यान में रखते हुए राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में एक महीने में 10 रैलियां करने का फैसला किया है, जो इस बात के भी संकेत हैं कि पार्टी प्रदेश में सपा-बसपा गठबंधन का हिस्सा नहीं बन सकती है। राहुल गांधी की ये रैलियां 2019 के लोकसभा चुनाव प्रचार का एक अहम हिस्सा होंगी।

- पार्टी के नेता पी. एल. पुनिया ने मीडिया को बताया कि राहुल गांधी फरवरी को प्रदेश में 10 रैलियां करेंगे। उन्होंने कहा कि अगले महीने हर तीसरे दिन गांधी उत्तर प्रदेश में होंगे। पुनिया ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को शिकस्त देने के लिए कांग्रेस समाजवादी पार्टी (सपा) और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) गठबंधन का हिस्सा बनने के लिए तैयार है। उन्होंने हालांकि यह भी कहा, "हर हाल में हम खुद संघर्ष करने को तैयार हैं।"

- बसपा अध्यक्ष मायावती और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव शनिवार को लखनऊ में संयुक्त प्रेसवार्ता करने वाले हैं, जिसमें वे दोनों दलों में सीटों के बंटवारे के फार्मूले का एलान कर सकते हैं।

Updated On:
11 Jan 2019, 09:42:03 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।