बुलेट ट्रेन का हुआ शिलान्यास, मोदी बोले प्रगति का रास्ता खोलेगा प्रोजेक्ट

prashant jha

Publish: Sep, 14 2017 01:32:06 (IST) | Updated: Sep, 14 2017 11:55:33 (IST)

Political

पीएम नरेन्द्र मोदी और भारत यात्रा पर आए जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने गुरुवार को बुलेट ट्रेन का शिलान्‍यास किया।

अहमदाबाद: पीएम नरेन्द्र मोदी और भारत यात्रा पर आए जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने गुरुवार को बुलेट ट्रेन का शिलान्‍यास किया। जापान के पीएम आबे ने जहां भारत के साथ आत्मीयता दिखाते हुए अपने भाषण की शुरुआत नमस्कार से की, वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने इस मौके पर जापान को भारत का मित्र देश और आबे को घनिष्ठ मित्र बताया। मोदी ने कहा कि आज भारत ने अपने सालों पुराने सपने को पूरा करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इसकी लागत 1.10 लाख करोड़ है, जिसमें 88 हजार करोड़ का कर्ज जापान देगा। इस कर्ज का ब्याज 0.1 फीसदी होगा, जिसे 50 साल में चुकाना होगा। ये प्रोजेक्ट 2022 तक पूरा कर लिया जाएगा। 

प्रगति का रास्ता खोलेगी बुलेट

पीएम मोदी ने कहा कि बुलेट ट्रेन एक ऐसा प्रोजेक्ट है, जिसमें तेज गति तो है ही, बल्कि उसके साथ तेज प्रगति भी है। यही नहीं इसमे सुविधा भी है और सुरक्षा भी। पीएम ने विश्वास दिलाते हुए कहा कि यह प्रोजेक्‍ट रोजगार भी लाएगा और व्‍यापार भी लाएगा। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य इस तकनीक का हर संभव इस्तेमाल करते हुए इसे देश के गरीबों के जीवन से जुड़ जाए। उन्होंने कहा कि इस प्रोजेक्ट से जहां रेलवे को बड़ा फायदा होगा, वहीं यह महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट मेक इन इंडिया को भी नया आयाम देगा।

 

शिंजों आबे को दिया श्रेय

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट का पूरा श्रेय जापान के प्रधानमंत्री शिंजों आबे को देते हुए मोदी ने कहा कि भारत और जापान की दोस्ती सीमा और समय से परे है। यदि आज इतने कम समय में इस प्रोजेक्ट के शिलान्यास का भूमि पूजन हो रहा है तो इसका पूरा श्रेय शिंजो आबे को जाता है। उन्होंने कहा कि मानव सभ्यता का इतिहास यातायात से जुड़ा हुआ है। किसी भी देश की तरक्की का आधार वहां का यातायात है। अमरीका का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि जो लोग अमरीका के इतिहास को जानते हैं उन्हें पता है कि रेलवे जाने के बाद कैसे वहां आर्थिक प्रगति शुरू हुई। बुलेट ट्रेन के फायदे गिनाते हुए उन्होंने कहा कि आज यूरोप से लेकर चीन तक हाई स्पीड रेल न सिर्फ आर्थिक, बल्कि सामाजिक परिवर्तन में एक अहम भूमिका निभा रही है। जापान में भी बुलेट ट्रेन ने अर्थव्‍यवस्‍था को बदल कर रख दिया।

आबे ने नमस्कार से की भाषण की शुरुआत

वहीं जापान के प्रधानमंत्री शिंजों आबे ने अपने भाषण की शुरुआत नमस्‍कार से की। आबे ने कहा कि भारत के नए अध्‍याय की शुरुआत से खुशी हो रही है। उन्होंने कहा कि भारत अगर ताकतवर होता है, तो यह जापान के हित में है। उन्होंने पीएम मोदी की नीतियों में पूरा विश्वास भी जताया। आबे ने कहा कि दोनों देशों के पहले अक्षर ज और इ मिला दें तो यह जय बन जाता है। उन्होंने कहा कि जापान और भारत एशिया के दो बड़े लोकतंत्र हैं। हिंद और प्रशांत महासागर के सभी देश स्वतंत्र और खुले विचार रखते हैं। यही नहीं आबे ने पीएम मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि मेरे मित्र पीएम मोदी एक दूरदर्शी नेता है। मैंने प्रधानमंत्री मोदी के बुलेट ट्रेन के सपने को पूरा करने की प्रतिज्ञा ली है। जापान और भारत के इंजिनियर दिन-रात इस प्रॉजेक्ट को पूरा करने में लगे हैं। अगर वे ठान लें तो कुछ नामुमकिन नहीं।

 

Web Title "Modi Shinzo Abe will lay the foundation of the bullet train"

Rajasthan Patrika Live TV