तलाक पर जंग: भाजपा-कांग्रेस ने सभी सांसदों को जारी किया व्हिप, सदन में मौजूद रहने के दिए निर्देश

By: Dhirendra Kumar Mishra

Published On:
Dec, 30 2018 02:40 PM IST

  • दोनों पार्टियों ने अपने सांसदों को 31 दिसंबर को लोकसभा और राज्‍यसभा में उपस्थिति रहने को लेकर तीन लाइन का व्हिप जारी किया है। तीन लाइन के व्हिप को महत्‍वपूर्ण माना जाता है।

नई दिल्‍ली। ट्रिपल तलाक बिल लोकसभा से पास होने के बाद सोमवार को राज्‍यसभा में पेश होना है। यह बिल दोनों दलों के लिए प्रतिष्‍ठा का प्रश्‍न है। भाजपा हर हाल में इस बिल को पास कराना चाहती है वहीं कांग्रेस का इस बिल को लेकर रुख सकारात्‍मक नहीं हैं। सियासी खींचतान के बीच भाजपा और कांग्रेस ने अपने-अपने सांसदों को संदन में मौजूद रहने को लेकर व्हिप जारी किया है। पार्टी ने व्हिप का उल्‍लंघन करने की स्थिति में अनुशासनात्‍मक कार्रवाई की चेतावनी भी दी है। दोनों पार्टियों ने 31 दिसंबर को लोकसभा और राज्‍यसभा में उपस्थिति रहने को लेकर तीन लाइन का व्हिप जारी किया है।

व्हिप का उल्‍लंघन करने पर क्‍या होगा
व्हिप का उल्लंघन दल बदल विरोधी अधिनियम के तहत माना जा सकता है और सदस्यता रद्द कर दी जा सकती है। व्हिप तीन तरह का होता है। एक लाइन का व्हिप। दो पंक्ति की व्हिप और तीन लाइन का व्हिप। इन तीनों मे तीन लाइन का व्हिप महत्वपूर्ण माना जाता है। इसे कठोर कहा जाता है। इसका इस्तेमाल अविश्वास प्रस्ताव जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे के लिए किया जाता है तथा उल्लंघन के बाद सदस्य की सदस्यता समाप्त हो जाती है। हालांकि व्हिप को लोकतंत्र की मान्यताओं के अनुकूल नहीं माना जाता है, क्योंकि इसमें सदस्यों को अपनी इच्छा से नहीं, बल्कि पार्टी की इच्छा के अनुसार कार्य करना होता है जो लोकतंत्र की भावनाओं के विरुद्ध है।

Published On:
Dec, 30 2018 02:40 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।