Tejashwi को Congress में टूट का डर, कहा- अगले एक महीने तक पटना में ही रहें सभी विधायक

By: Mohit sharma

|

Updated: 12 Nov 2020, 03:55 PM IST

राजनीति

नई दिल्ली। बिहार में विधानसभा चुनाव ( bihar assembly election ) के नतीजे आने के बाद सियासी हलचल तेज हो गई है। BJP और JDU जहां बिहार में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ( NDA ) की सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं, वहीं राष्ट्रीय जनता दल ( RJD ) के नेता तेजस्वी ( Tejashwi Yadav ) ने चुनाव आयोग ( Election commission ) पर निशाना साधा है। विधानसभा चुनाव में महागठबंधन के नेतृत्वकर्ता तेजस्वी यादव ने गुरुवार को कहा कि जनादेश महागठबंधन के पक्ष में है, जबकि चुनाव आयोग का दिया नतीजा राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ( NDA) के पक्ष में रहा।

Sunny Deol ने पंजाब के मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, जानें क्यों लगाई मदद की गुहार

कांग्रेस में टूट का डर

इस बीच तेजस्वी यादव को सहयोगी दल कांग्रेस में टूट का डर भी सताने लगा है। यही वजह है कि गुरुवार को बिहार की राजधानी पटना में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर महागठबंधन के नेताओं की बैठक हुई। इस बैठक शामिल विधायकों को राजद नेता तेजस्वी यादव ने संबोधित करते हुए विश्वास दिलाया कि सरकार उनकी ही बनने जा रही है। इसके साथ ही तेजस्वी ने अपने विधायकों से अगले एक महीने तक पटना में ही रहने की अपील की है। सूत्रों का तो यहां तक कहना है कि तेजस्वी यादव को कांग्रेस के कुछ विधायकों के पाला बदलने का डर सता रहा है। ऐसे में वो पूरी चौकसी बरत रहे हैं।

जनादेश महागठंधन के साथ

दरअसल, महागठंधन की सोच है कि अगर राजग सरकार में मंत्रिमंडल को लेकर कुछ गड़बड़ होती है तो वो इसका लाभ उठाएंगे। खासकर अगर एनडीए की सरकार में जीतन राम मांझी और मुकेश सहनी की पार्टियों को पर्याप्त हिस्सेदारी नहीं मिलती तो। महागठबंधन के विधायकों को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि जनादेश महागठंधन के साथ है। उन्होंने नीतीश कुमार पर मतगणना में धांधली करने का आरोप भी लगाया।

Bihar में जीत के बाद Nitish Kumar का पहला ट्वीट- जानें किसको बताया अपना मालिक ?

सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी ने मतगणना में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर बैलेट पेपर की गिनती बाद में कराई गई और अधिकांश मतों को रद्द कर दिया गया। तेजस्वी ने दावा करते हुए कहा कि राजग और महागठबंधन में वोटों का अंतर मात्र 12,270 है, लेकिन 15 सीटें राजग को ज्यादा हैं। यह आंकड़ा ही बताती है कि मतगणना में क्या हुआ है। तेजस्वी ने जनता के मुद्दे उठाते रहने की बात कही और यह भी कहा कि लोगों को धन्यवाद देने के लिए वे जल्द ही 'धन्यवाद यात्रा' निकालेंगे। उन्होंने राजग के नेताओं को चेतावनी देते हुए कहा कि "राजग द्वारा किए गए वादे अगर जनवरी तक पूरे नहीं होते हैं तो हम महागठबंधन के दल सड़कों पर उतरेंगे।"

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।