Uttarakhand में UP Police के सिपाही की हत्या, दो इंस्पेक्टर समेत तीन लाइन हाजिर, देखें मौत का Video

By: Dhirendra yadav

Updated On:
17 Aug 2019, 06:33:37 PM IST

  • घटना ढाबे पर लगे सीसीटीवी (CCTV) कैमरे में कैद हो गई है।

पीलीभीत। उत्तराखंड (Uttarakhand) में थाना माधोटांडा के उत्तर प्रदेश पुलिस (UP Police) डायल 100 (Dial 100) के सिपाही की गोली मारकर हत्या (Murder) कर दी गयी है पूरी घटना ढाबे पर लगे सीसीटीवी (CCTV) कैमरे में कैद हो गई है। जांच हुई तो खुलासा हुआ कि सिपाही 11 अगस्त के गैरहाजिर चल रहा था। इस मामले में दो पुलिस इंस्पेक्टर (Police Inspector) और एक सिपाही (Constable) को लाइन हाजिर कर दिया गया है।

ये भी पढ़ें - Article 370 भाजपा विधायक पर सपा नेता ने साधा निशाना, कह दी ये बड़ी बात, देखें वीडियो

ये है घटना
पीलीभीत (Pilibhit) जनपद के थाना माधोटांडा में डायल 100 बाइक पर जनपद रामपुर के बिलासपुर थाना क्षेत्र के चंदेली गांव निवासी मयंक सिंह ( 26) पुत्र दयानंद तैनात थे।10 अगस्त को मयंक सिंह हंड्रेड डायल के अपने एक साथी को बताकर बगैर छुट्टी लिए घर चला गया था। रात को लगभग 8:00 बजे उत्तराखंड राज्य के ऊधम सिंह नगर जिले के गदरपुर महतोस प्रेम नगर मोड के पुलिया के पास खालसा ढाबा पर अपने साथियों के साथ खाना खा रहा था। इसी दौरान ढाबे पर बाइकों से कुछ युवक पहुंचे, जिन्होंने मयंक पर फायरिंग कर दी। कांस्टेबल मयंक गंभीर रूप से घायल हो गया। पूरी घटना ढाबे पर लगे सीसीटीवी के कैमरे में कैद हो गई थी। मौके पर उत्तराखंड के ऊधम सिंह नगर के एसएसपी बरिंदरजीत सिंह पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे। घायल मयंक को इलाज के लिए रुद्रपुर अस्पताल ले जाया जा रहा था, पर रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

ये भी पढ़ें - स्वास्थ्य विभाग के जागरुकता अभियान का दिखा असर, मलेरिया के मरीजों में आई कमी

11अगस्त से गैरहाजिर था
पूरनपुर पुलिस क्षेत्राधिकारी कमल सिंह और थाना प्रभारी माधोटांडा उमेश कुमार सिंह सोलंकी को जब घटना के बारे में पता चला तो मामले की जानकारी लेने उत्तराखंड पहुंच गए। जांच में पता चला कि मयंक सिंह 11 अगस्त से गैरहाजिर चल रहा था। इसकी जानकारी न तो पुलिसकर्मियों को थी, और न ही अधिकारियों को। इस मामले में यूपी 100 के इंस्पेक्टर मुकेश कुमार और माधोटांडा थाना प्रभारी उमेश कुमार सोलंकी की लापरवाही सामने आई है।यूपी 100 बाइक पर तैनात दूसरे सिपाही गौरव सिंह ने भी मयंक के गैरहाजिर रहने की जानकारी अफसरों को नहीं दी। इस लापरवाही पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार ने इंस्पेक्टर मुकेश कुमार, उमेश सिंह सोलंकी और सिपाही गौरव सिंह को लाइन हाजिर कर दिया।

ये भी पढ़ें - 10 साल में भी नहीं बनी सड़क, लोगों का फूटा गुस्सा, देखें वीडियो

Updated On:
17 Aug 2019, 06:33:37 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।