रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर करोडों की ठगी

By: Navneet Sharma

Updated On: 21 Aug 2019, 05:53:26 PM IST

  • रेलवेमें नौकरी दिलाने के लिए बड़े बड़े गैंग सक्रिय हैं। ये बड़ी रकम देकर सेटिंग कराते और नौकरी दिलवाते हैं।पिछले दिनों पटना के पड़ोसी इलाकों में ऐसे ही गिरोह के लोग पकड़े गये। यह अंतिम नहीं था। फिर एक फर्जीवाड़ा सामने आया है।

     

मोहनियां(कैमूर) प्रियरंजन भारती। रोजगार के लिए भटक रहे शिक्षित युवाओं को रोजगार दिलाने के नाम पर फिर एक बार ठगा गया है। मामला रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर अभ्यर्थियों से मोटी रकम वसूल कर किया गया। बदमाशों ने युवाओं को इस बार मालगोदाम श्रमिक की नौकरी के नाम ठगी की है। तीन हजार अभ्यर्थियों से राजगीर में हुए सम्मेलन के नाम पर 61-61 हजार रुपयों की वसूली की गई। इस तरह कुल 18.30 करोड रुपये तसीलकर रैकेटियरों ने भोले भाले ग्रामीण बेरोजगारों को निशाना बनाया।

साक्ष्य में जो कूपन मिले उसमें दर्ज़ खाता नंबर पंजाब नेशनल बैंक का है।मामले के जांचकर्ता जब बैंक की शाखा में गये तो वैसा खाता नहीं पाया गया।बैंक मैनेजर ने बताया यहां इतने डिजिट का खाता ही नहीं होता है। बता दें तेरह डिजिट के खातों का नंबर कूपन में दर्ज़ है।कूपन के नीचे एक कोड लिखा गया था।जांच में यह बाढ़ जिले के बैंक ऑफ इंडिया में भारतीय रेल एमएसजी नाम का खाता पाया गया।इसमें अभी तेरह लाख रुपये जमा हैं।इस खाते से पचास लाख से ज्यादा के ट्रांजेक्शन हो चुके हैं।इस मामले में पूछने पर एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि जो सुना वो सही है। कहा कि अभी जांच चल रही है।
बता दें कि मालगोदाम श्रमिकों को रेलवे में रखे जाने के लिए पिछले दिनों राजगीर में श्रमिकों को जुटाया गया था । इसी सम्मेलन के नाम पर तीन हजार लोगों से पैसे वसूल किए गये थे।

Updated On:
21 Aug 2019, 05:51:59 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।