किऊल नदी में ओवरलोड नाव डूबी, पांच लापता, दो शव बरामद

By: Brijesh Singh

Updated On:
10 Jul 2019, 04:48:36 PM IST

  • तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश के चलते उफनाई नदियां अब जान-माल पर भारी पड़ने लगी हैं। बुधवार तड़के लखीसराय जिले में किऊल नदी ( Kiul River ) में एक ओवरलोड नाव ( Overloaded boat ) पलट गई, जिसमें सवार 5 लोग डूब गए। इनमें से 2 शवों को गोताखोरों ने निकाल लिया है।

( पटना, प्रियरंजन भारती )।बिहार में तीन दिनों से लगातार हो रही बारिश के चलते उफनाई नदियां अब जान-माल पर भारी पड़ने लगी हैं। बुधवार तड़के लखीसराय जिले में किऊल नदी ( kiul river ) में एक ओवरलोड नाव ( Overloaded boat ) पलट गई, जिससे उसमें सवार 5 लोग डूब गए। इनमें से 2 शवों को गोताखोरों ने निकाल लिया है। हादसा बुधवार की सुबह लखीसराय जिले के सूर्यगढ़ा थाना क्षेत्र में चननिया गांव के पास हुआ। सुबह पांच बजे ही नाव पर सवार 50 से अधिक लोग नदी के पार अपने काम पर जाने के लिए घर से निकले थे।

 

जानकारी के मुताबिक इनमें अधिकांश किसान और उनके परिजन थे। प्राप्त जानकारी के अनुसार किउल नदी ( Kiul River ) के बीच जाकर नाव तेज धार में पलट गई। तैरना जानने वाले तैरकर किनारे निकल गए। इस दौरान नाव में मौजूद बच्चे और महिलाएं डूबने लग गईं। उनका शोर शराबा सुनकर स्थानीय लोग मदद के लिए उनकी ओर दौड़े और उनमे से कुछ स्थानीय तैराकों ने डूबती महिलाओं और बच्चों को नदी से सुरक्षित बाहर निकाला। हालांकि इसके बावजूद हादसे में 5 लोग डूब गए। इनमें 2 के शव गोताखोरों ने नदी से बाहर निकाल लिया।

 

स्थानीय प्रशासन मौके पर पहुंच कर लापता लोगों की तलाश में जुटा है। गोताखोरों की मदद ली जा रही है। गौरतलब है कि बिहार में बारिश के कारण उफनाई नदियों में हर साल नाव हादसे होते आ रहे हैं , जिनमें नावों के डूबने के चलते अनेक निर्दोषों की जान चली जाती है। सरकार ने नावों के परिचालन और सवारी के मापदंड तय कर रखे हैं। फिर भी लोगों की लापरवाही और नासमझी से अक्सर नाव हादसे होते आ रहे हैं, जिनमें लोग अपनी जान से हाथ धो बैठते हैं। मकर संक्रांति पर 14 जनवरी 2017 को पटना की गंगा नदी में हुए नाव हादसे में 25 जानें चली गई थीं।

 

बिहार की ताजातरीन खबरों के लिए यहां क्लिक करें...

Updated On:
10 Jul 2019, 04:48:36 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।