VIDEO : यहां के विद्यार्थी पेड़ के नीचे खुले में सीख रहे आखर ज्ञान, बारिश में होता है हाल-बेहाल

By: Suresh Hemnani

Published On:
Jul, 10 2019 09:05 PM IST

 
  • -राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय अन्नजी की ढाणी के हाल
    -कक्षाएं 12, कमरे सात, एक में आंगनबाड़ी दूसरे में लैब

पाली/धनला। बासनी ग्राम पंचायत के अन्नजी की ढाणी स्थित राजकीय आदर्श उच्च माध्यमिक विद्यालय [State Model Higher Secondary School] में कक्षा-कक्षों की कमी के चलते कई कक्षाएं खुले में संचालित की जा रही है। बारिश के दौरान एक कमरे में दो या तीन कक्षाएं एक साथ बिठाने की मजबूरी का सामना करना पड़ रहा है।

बासनी ग्राम पंचायत मुख्यालय पर संस्कृत विभाग का वरिष्ठ उपाध्याय संस्कृत विद्यालय होने के कारण अन्नजी की ढाणी का यह विद्यालय 2015-16 में माध्यमिक से उच्च माध्यमिक के रूप में क्रमोन्नत हुआ। तब से यहा अध्ययन के लिए अन्नजी की ढाणी सहित कोटड़ी, बासनी, गुड़ा हिम्मता, जोजावर, राईकों की ढाणी, बेरा चौंचावा, बेरा बजुरियां आदि के विद्यार्थी अध्ययन करने आते हैं। वर्तमान में यहां 234 छात्र/छात्राएं पढ़ रहे हैं। सरकार द्वारा क्रमोन्नत कर आदर्श का बोर्ड तो लगा लिया लेकिन संसाधनों के नाम पर कोई विस्तार नहीं होने से मात्र 7 कमरों में 12 कक्षाएं संचालित की जा रही है। कई कक्षाएं स्कूल के बाहर मैदान में पेड़ के नीचे लगाई जा रही है। सात कमरों में एक कमरे में आंगनबाड़ी पाठशाला तथा एक कमरे में आईटीटी लैब होने से कम्प्यूटर सेट व अन्य उपकरण लगाएं गए हैं। ऐसे में मात्र पांच कमरे ही कक्षाओं के रूप में काम आ रहे हैं।

भौतिक संसाधनों के अभाव में 100 प्रतिशत परीक्षा परिणाम
विद्यालय में प्रर्याप्त शिक्षक तथा आशानुकूल नामांकन होने के साथ ही क्रमोन्नत होने के बाद हर वर्ष संसाधनों के अभाव में बोर्ड परीक्षा परिणाम शत प्रतिशत दिया जा रहा है। 12 कक्षाओं के लिए एक प्राचार्य सहित कुल 13 शिक्षकों का स्टाफ पदस्थापित है।

कक्षा कक्षों की कमी के चलते हो रही है दिक्कत
स्कूल क्रमोन्नत होने के बाद एक भी कक्षाकक्ष का निर्माण नहीं हुआ है। 7 कमरों में एक लैब तथा एक आंगनबाड़ी पाठशाला है। मात्र 5 कमरों और कक्षाएं 12 ऐसे में खुले में बिठाने की मजबूरी है। हमारे पास पर्याप्त शिक्षक है तथा नामाकंन है। कमरों की कमी के कारण परेशानी हो रही है। -राकेशकुमार शर्मा, शाला प्रभारी (राकीय आ.उ.मा.वि.अन्नजी की ढाणी)

Published On:
Jul, 10 2019 09:05 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।